scorecardresearch
 

पंजाब: बर्खास्त मंत्री विजय सिंगला के ओएसडी भी गिरफ्तार, भ्रष्टाचार के मामले में कार्रवाई

Vijay singla News: मंगलवार देर शाम पंजाब पुलिस की विजिलेंस विंग ने बर्खास्त किए गए स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला के ओएसडी प्रदीप कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया.

X
स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला के ओएसडी प्रदीप कुमार को भी पुलिस ने अरेस्ट किया है. स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला के ओएसडी प्रदीप कुमार को भी पुलिस ने अरेस्ट किया है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • AAP सरकार का भ्रष्टाचार पर पहला बड़ा एक्शन
  • विजय सिंगला 27 मई तक पुलिस रिमांड पर

पंजाब की आम आदमी पार्टी की सरकार ने भ्रष्टाचार के मामले में एक और बड़ी कार्रवाई की है. मंगलवार देर शाम पंजाब पुलिस की विजिलेंस विंग ने बर्खास्त किए गए स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला के ओएसडी प्रदीप कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले पुलिस ने मंत्री सिंगला को गिरफ्तार किया था. सिंगला पर भ्रष्टाचार करने के आरोप हैं. मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सुबह मंत्री को बर्खास्त कर दिया था. 

विजय सिंगला को कोर्ट ने 27 मई तक पुलिस रिमांड पर भेजा है. कोर्ट से बाहर निकलते वक्त विजय सिंगला ने कहा कि पार्टी को बदनाम करने की साजिश की जा रही है. मेरे खिलाफ भी साजिश की गई है. बता दें कि पंजाब में दो महीने पहले ही आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है. विजय सिंगला 10 साल से पार्टी के नेता हैं. उन्होंने मानसा सीट से चर्चित गायक सिद्धू सिंह मूसेवाला को चुनाव हराया था.

एक फीसदी कमीशन मांगने की शिकायत मिली थी

मंगलवार को मुख्यमंत्री मान के निर्देश पर मामला दर्ज कर NCB ने विजय सिंगला को गिरफ्तार कर लिया. बता दें कि स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के एक अधिकारी ने करीब 10 दिन पहले सीएम ऑफिस में विजय सिंगला के खिलाफ शिकायत दी थी. इसमें कहा गया था कि विजय सिंगला अधिकारियों से ठेके पर एक फीसदी कमीशन की मांग कर रहे हैं. साथ ही वह भ्रष्टाचार में भी लिप्त हैं. लेकिन सीएम ने प्रूफ के साथ पूरी जानकारी मांगी. साथ ही सीएम भगवंत मान ने अधिकारी को भरोसा दिलाया कि किसी भी मंत्री से उन्हें डरने की ज़रूरत नहीं है. भ्रष्टाचार में लिप्त किसी भी शख्स को बख़्शा नहीं जाएगा.

जानकारी के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला ने ठेके के आवंटन के लिए बठिंडा निवासी से 'शुकराना' शब्द का इस्तेमाल किया था, जो कि कमीशन के लिए इस्तेमाल किया जाता है. कार्रवाई के बाद सीएम मान ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ भ्रष्टाचार के सबूत मिलने के बाद बर्खास्त किया गया. इसके साथ ही FIR दर्ज करने के भी आदेश दिए. उन्होंने कहा कि हम एक परसेंट भ्रष्टाचार भी बर्दाश्त नहीं करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें