scorecardresearch
 

लौट के सिद्धू 'घर' को आए! बने रहेंगे पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष, बोले- आलाकमान का हर फैसला मंजूर

पंजाब कांग्रेस में लंबे समय से जारी सियासी तनातनी के कम होने के आसार दिख रहे हैं. दिल्ली आए नवजोत सिंह सिद्धू (navjot singh sidhu) ने एक बार फिर साफ किया कि सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी वाड्रा ही उनके नेता हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल-पीटीआई) नवजोत सिंह सिद्धू (फाइल-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सोनिया, राहुल और प्रियंका ही मेरे नेताः नवजोत सिद्धू
  • पंजाब के CM आज पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिले
  • सिद्धू-चन्नी ने सभी मुद्दों पर बात की, समाधान जल्दः रावत

पंजाब कांग्रेस में सत्ता परिवर्तन के बाद भी राजनीतिक संघर्ष जारी है और उसे सुलझाने की कवायद भी की जा रही है. हालांकि एक बार फिर पंजाब को लेकर दिल्ली से मोहाली तक हलचल तेज हो गई है. पंजाब के मुख्यमंत्री ने आज पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात की तो दिल्ली स्थित पंजाब भवन में नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस के कई नेताओं से मिले.

पंजाब कांग्रेस (PCC) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले नवजोत सिंह सिद्धू आज दिल्ली में हैं और दिल्ली स्थित पंजाब भवन में थे जहां उनकी पार्टी के कई नेताओं से मुलाकात होनी है. दिल्ली में पार्टी के पंजाब प्रभारी हरीश रावत और केसी वेणुगोपाल से उनकी मुलाकात हुई.

इस बीच नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार फिर पार्टी आलाकमान पर भरोसा जताया. उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ही मेरे नेता हैं, मुझे उनके नेतृत्व पर भरोसा है. आलाकमान का हर फैसला मंजूर है. तो वहीं हरीश रावत ने कहा कि अब साफ हो गया है कि सिद्धू पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष बने रहेंगे और संगठन को मजबूत करेंगे.

हरीश रावत ने कहा कि नवजोत सिद्धू ने साफ तौर पर कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष का फैसला उन्हें मंजूर होगा. निर्देश स्पष्ट हैं कि नवजोत सिद्धू को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में काम करना चाहिए और संगठनात्मक संरचना की स्थापना करनी चाहिए. कल घोषणा की जाएगी.

रावत ने पंजाब के हालात पर कहा कि हम बातचीत के जरिए सभी मुद्दों को सुलझाएंगे. सिद्धू और चन्नी ने सभी मुद्दों पर बात की है और जल्द ही कुछ समाधान निकल जाएगा.

मुख्यमंत्री चरणजीत मिले पूर्व सीएम से

इस बीच वेणुगोपाल से मुलाकात करने के लिए सिद्धू पंजाब भवन से निकले और वेणुगोपाल के आवास नर्मदा अपार्टमेंट गए, जहां दोनों नेताओं की मुलाकात हुई. 

इसे भी क्लिक करें --- शाह के बाद अब डोभाल से मिले अमरिंदर सिंह, सिद्धू के PAK कनेक्शन पर उठाए थे सवाल

इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आज गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात करने उनके फॉर्महाउस पहुंचे. कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद से ही अपनी पार्टी से नाराज चल रहे हैं. वह कांग्रेस पर अपमानित करने का आरोप लगाते हुए पार्टी छोड़ने का ऐलान भी कर चुके हैं. हालांकि, अब तक उन्होंने आधिकारिक रूप से पार्टी से इस्तीफा नहीं दिया है.

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी अपने नवविवाहित पुत्र-वधू को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के मोहाली के सिसवां स्थित फॉर्महाउस पर आशीर्वाद लेने पहुंचे. वह आज दोपहर को उनके फॉर्महाउस पर पहुंचे. इससे पहले जब चन्नी को पंजाब का नया मुख्यमंत्री बनाया गया था, तब कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी उन्हें बधाई दी थी.

हालांकि दोनों नेताओं के बीच बीएसएफ को ज्यादा पावर दिए जाने के मसले पर सियासी घमासान शुरू हो गया. पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और मौजूदा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी इस मसले पर आमने-सामने आ गए. दोनों के बीच बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) को ज्यादा अधिकार दिए जाने को लेकर तनातनी देखी गई.

एक ओर सीएम चन्नी ने केंद्र सरकार के इस फैसले पर जहां सवाल उठाए तो दूसरी ओर पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस फैसले का स्वागत किया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें