scorecardresearch
 

सलमान खुर्शीद बोले- कांग्रेस में नेतृत्व संकट नहीं, सोनिया-राहुल गांधी को मिल रहा सपोर्ट

बिहार विधानसभा चुनावों में खराब प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं. इस बीच, वरिष्ठ कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने रविवार को कहा है कि पार्टी में नेतृत्व का संकट नहीं है, सोनिया और राहुल गांधी को सभी का समर्थन मिल रहा है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (फोटो-IANS) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (फोटो-IANS)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कपिल सिब्बल की टिप्पणी पर रखी राय
  • पार्टी में बात कहने के फोरम हैं- सलमान
  • कहा-अंदर की बात करने की जरूरत नहीं
  • नेतृत्व सबको बात कहने का देता है मौका

बिहार विधानसभा चुनावों में खराब प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं. इस बीच, वरिष्ठ कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने रविवार को कहा है कि पार्टी में नेतृत्व का संकट नहीं है, सोनिया और राहुल गांधी को सभी का समर्थन मिल रहा है. 

गांधी परिवार के करीबी माने जाने वाले सलमान खुर्शीद ने यह भी कहा कि कांग्रेस में अपनी बात कहने के पर्याप्त फोरम हैं और भीतर की बात बाहर करने से पार्टी आहत हुई है. सलमान खुर्शीद का यह बयान तब आया है, जब बिहार चुनाव को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल सहित कई अन्य नेताओं ने कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल खड़े किए हैं. 

एक समाचार एजेंसी के साथ इंटरव्यू में सलमान खुर्शीद ने कहा, 'नेतृत्व मेरी बात सुनता है, मुझे इसका अवसर मिलता है, उन्हें (मीडिया में आलोचना करने वालों को) को मौका दिया जाता है, इसमें यह बात कहां से आ गई है कि नेतृत्व उन्हें सुन नहीं रहा है.'

बिहार चुनाव और विभिन्न विधानसभा उपचुनावों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन पर सिब्बल और एक अन्य वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम की टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर सलमान खुर्शीद ने कहा कि वह उनकी बातों से असहमत नहीं हैं, लेकिन किसी को मीडिया में जाकर यह नगाड़ा पीटने की क्या जरूरत है कि 'हमें क्या करने की आवश्यकता है?'. 

कांग्रेस कार्य समिति के स्थायी आमंत्रित सदस्य सलमान खुर्शीद ने कहा, 'विश्लेषण हर समय किया जाता है, विश्लेषण के बारे में कोई झगड़ा नहीं है. यह हो जाएगा. नेतृत्व, जिसमें ये सभी लोग एक हिस्सादार हैं, देखेंगे कि क्या गलत हुआ है, हम चीजों में कैसे सुधार ला सकते हैं, और यह सामान्य कोर्सवर्क होगा, हमें सार्वजनिक रूप से इसके बारे में बात करने की आवश्यकता नहीं है.'

देखें: आजतक LIVE TV

असल में, कपिल सिब्बल ने कहा था कि देश के लोग, न केवल बिहार में बल्कि जहां भी उपचुनाव हुए जाहिर तौर पर कांग्रेस को एक प्रभावी विकल्प नहीं मानते. यह एक निष्कर्ष है. बिहार में विकल्प राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ही था. हम गुजरात में सभी उपचुनाव हार गए. लोकसभा चुनाव में भी हमने वहां एक भी सीट नहीं जीती थी. उत्तर प्रदेश की कई सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों को दो फीसदी से कम वोट मिले. मुझे उम्मीद है कि कांग्रेस आत्ममंथन करेगी. अपने इस बयान के चलते सिब्बल पार्टी में कई नेताओं के निशाने पर आ गए.
 
बहरहाल, कुछ नेताओं के पूर्णकालिक अध्यक्ष बनाए जाने के सवाल पर सलमान खुर्शीद ने कहा कि उन्हें आगे आना चाहिए और पार्टी के अंदर इस बारे में बात करनी चाहिए. सलमान खुर्शीद ने कहा, "हमारे नेताओं को देखें और कहें कि आप लेबल के बिना अच्छे नहीं लगते हैं, वो नेता जरूर इसकी परवाह करेंगे."

सोनिया गांधी के एक साल से अधिक समय तक कांग्रेस पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष रहने के सवाल पर सलमान खुर्शीद ने कहा कि अंतरिम प्रमुख होने के लिए एक साल का समय बहुत लंबा है, यह कौन तय करेगा? पार्टी का नया अध्यक्ष चुने जाने में समय लग रहा है, और यही वजह है कि अंतरिम अध्यक्ष को अपने पद पर इतने लंबे समय तक बने रहना पड़ रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें