scorecardresearch
 

राज्यसभा की सात सीटों पर चुनाव, महाराष्ट्र-तमिलनाडु में कांग्रेस में दावेदारी की होड़

राज्यसभा की 7 सीटों पर हो रहे चुनाव में कांग्रेस के दो सीटों पर लड़ने की संभावना है, एक तमिलनाडु और दूसरी महाराष्ट्र की राज्यसभा सीट पर. तमिलनाडु विधानसभा चुनावों के दौरान सीट शेयरिंग फॉर्मूले में डीएमके ने एक सीट कांग्रेस को देने का वादा किया था जबकि दूसरी सीट महाराष्ट्र से है जो राजीव सातव के निधन के बाद खाली हुई है. 

राहुल गांधी और सोनिया गांधी राहुल गांधी और सोनिया गांधी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राज्यसभा की दो सीटें कांग्रेस को मिल सकती हैं
  • कांग्रेस में राज्यसभा के लिए कई नेता दावेदार हैं
  • बीजेपी को भी दो राज्यसभा सीटें मिलना तय है

राज्यसभा की सात सीटों पर चुनाव का औपचारिक ऐलान हो चुका है, जिसके लिए 4 अक्तूबर को वोटिंग होनी है. तमिलनाडु की दो सीट पुदुचेरी, असम, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र और बंगाल की 1-1 सीट पर चुनाव होने हैं. राज्यसभा की सात में से दो सीटें कांग्रेस के खाते में आ सकती हैं, जिसके लिए पार्टी नेता अपनी-अपनी जोर आजमाइश में जुटे हुए हैं. ऐसे में देखना है कि कांग्रेस इस बार किसे उच्च सदन भेजना का फैसला करती है. 

कांग्रेस के राज्यसभा चुनाव में दो सीटों पर चुनाव लड़ने की संभावना है. एक तमिलनाडु में और दूसरी महाराष्ट्र की राज्यसभा सीट है. तमिलनाडु विधानसभा चुनावों के दौरान सीट शेयरिंग फॉर्मूले में डीएमके ने एक सीट कांग्रेस को देने का वादा किया था जबकि दूसरी सीट महाराष्ट्र से है जो राजीव सातव के निधन के बाद खाली हुई है. 

कांग्रेस से कई राज्यसभा के दावेदार

कांग्रेस की तरफ से राज्यसभा की दौड़ में गुलाम नबी आजाद, मुकुल वासनिक, मिलिंद देवड़ा, संजय निरुपम से लेकर प्रमोद तिवारी और कांग्रेस डेटा एनालिटिक्स विभाग के अध्यक्ष प्रवीण चक्रवर्ती सहित कई दिग्गत नेता अपनी-अपनी जुगत में हैं. तमिलनाडु चुनाव के दौरान डीएमके के साथ सीट शेयरिंग फॉर्मूले के लिए गुलामी नबी आजाद गए थे, जिसमें एक राज्यसभा की सीट वो कांग्रेस को देना का वादा एमके स्टालिन से ले आए थे. 

तमिलनाडु के लिए कांग्रेस में घमासान

तमिलनाडु में दो राज्यसभा सीटों पर हो रहे चुनाव में एक सीट कांग्रेस और एक सीट डीएमके को मिलनी है. राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस डेटा एनालिटिक्स विभाग के अध्यक्ष प्रवीण चक्रवर्ती भी प्रमुख दावेदार हैं. हालांकि, डीएमके एक राज्यसभा की सीट कांग्रेस को देने के लिए तैयार है, लेकिन किसी राजनीतिक व्यक्ति को उच्च सदन भेजने के पक्ष में नहीं है. गुलामी नबी आजाद के डीएमके साथ बेहतर संबंध हैं, जिसके चलते माना जा रहा है कि उनके नाम पर सहमति बन सकती है. 

वहीं, यूपी विधानसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस के दिग्गज नेता प्रमोद तिवारी भी दावेदारी कर रहे हैं. तिवारी प्रियंका गांधी से अपनी निकटता पर भरोसा कर रहे हैं और उच्च सदन चुनाव के लिए जाने के लिए जोड़तोड़ में जुटे हैं. ऐसे में देखना है कि तमिलनाडु से कांग्रेस किसे राज्यसभा भेजने का फैसला करती है. 

महाराष्ट्र से तीन दावेदार

महाराष्ट्र में राजीव सातव के निधन से रिक्त हुई सीट के लिए कांग्रेस के तीन दावेदार माने जा रहे हैं. अनुसूचित जाति से आने वाले मुकुल वासनिक ने अपना फैसला पार्टी नेतृत्व पर छोड़ दिया है जबकि राहुल गांधी के करीबी रहे मिलिंद देवड़ा भी प्रमुख दावेदारों में से एक हैं. इसके अलावा मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरूपम भी अपनी जुगत में लगे हैं. हाल ही में निरूपम दिल्ली आकर राहुल गांधी से मिले थे. ऐसे में देखना है कि राजीव सातव की सीट पर कौन राज्यसभा जाता है. 

बीजेपी को दो सीटें मिलना तय 

राज्यसभा की सात सीटों पर हो रहे चुनाव में बीजेपी को भी दो सीटें मिलने की संभावना है, एक मध्य प्रदेश में और दूसरी असम की राज्यसभा सीट है. असम से पूर्व सीएम और केंद्रीय मंत्री सर्बानंद सोनोवाल को भेजे जाने की संभावना है. वहीं, मध्य प्रदेश की सीट थावरचंद गहलोत के राज्यपाल बनने के चलते रिक्त हुई है, जो बीजेपी को मिलना तय है. हालांकि, बीजेपी से कौन राज्यसभा जाएगा यह तस्वीर साफ नहीं है. 

टीएमसी से कौन जाएगा उच्च सदन

वहीं, पुडुचेरी की सीट एनडीए को जाएगी, लेकिन यह सीट बीजेपी के खाते में जाती है या फिर क्षेत्रीय दल के खाते में, ये देखना होगा. पश्चिम बंगाल में एक सीट पर चुनाव हो रहा है और ये सीट टीएमसी को मिलनी तय है. ऐसे में ममता राज्यसभा के लिए किसे भेजती हैं यह कहना मुश्किल है, लेकिन यशवंत सिन्हा से लेकर सुष्मिता देव तक दावेदार हैं. ऐसे में देखना है कि सात राज्यसभा सीटों पर हो रहे चुनाव में किन नेताओं की किस्मत बुलंद होती है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें