scorecardresearch
 

370 की चिदंबरम ने की पैरवी तो नड्डा बोले- डिवाइड इंडिया के ट्रिक पर आई कांग्रेस

अनुच्छेद 370 की बहाली की लड़ाई को कांग्रेस का समर्थन जताते हुए चिदंबरम ने कहा कि, "कांग्रेस जम्मू-कश्मीर के लोगों की स्थिति और अधिकारों की बहाली के लिए भी दृढ़ है. मोदी सरकार द्वारा 5 अगस्त, 2019 को लिए गए मनमाने और असंवैधानिक फैसलों को रद्द किया जाना चाहिए."

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (फोटो- पीटीआई) कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अनुच्छेद 370 कांग्रेस-बीजेपी की भिडंत
  • 5 अगस्त का फैसला असंवैधानिक-चिदंबरम
  • बिहार चुनाव से पहले कांग्रेस की डर्टी ट्रिक्स

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की रिहाई के साथ ही अनुच्छेद 370 का मुद्दा एक बार फिर से सुर्खियां बटोरने लगा है. महबूबा, उमर अब्दुल्ला और फारुक अब्दुल्ला तो अनुच्छेद 370 की बहाली की मांग कर रहे हैं. उनकी इस मांग को समर्थन मिला है कांग्रेस की ओर से. कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा है कि मोदी सरकार के 5 अगस्त 2019 के असंवैधानिक फैसले को रद्द किया जाना चाहिए. 

बिहार चुनाव से पहले कांग्रेस की इस डिमांड पर बीजेपी ने जोरदार हमला किया है. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा है कि चुनाव से पहले कांग्रेस एक बार फिर से अपनी डिवाइड इंडिया के ट्रिक पर आ गई है. इस मसले पर जेपी नड्डा और पी चिदंबरम के बीच ट्विटर पर ठनी हुई है. 

सबसे पहले पी चिदंबरम ने अनुच्छेद 370 हटाने को गलत करार देते हुए ट्वीट किया, "जम्मू-कश्मीर की मुख्यधारा की क्षेत्रीय पार्टियों का जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के लोगों के अधिकारों को बहाल करने के लिए संवैधानिक लड़ाई लड़ने के लिए एक साथ आना एक ऐसा घटनाक्रम है, जिसका भारत के सभी लोगों द्वारा स्वागत किया जाना चाहिए."

अनुच्छेद 370 की बहाली की लड़ाई को कांग्रेस का समर्थन जताते हुए चिदंबरम ने कहा कि, "कांग्रेस जम्मू-कश्मीर के लोगों की स्थिति और अधिकारों की बहाली के लिए भी दृढ़ है. मोदी सरकार द्वारा 5 अगस्त, 2019 को लिए गए मनमाने और असंवैधानिक फैसलों को रद्द किया जाना चाहिए." 

 

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को जम्मू कश्मीर की मुख्यधारा के दलों और लोगों को अलगाववादी या राष्ट्र विरोधी के रूप में देखना बंद करना चाहिए. 

देखें: आजतक LIVE TV

पी चिदंबरम के इस ट्वीट का जवाब देने में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तनिक भी देर न लगाई. उन्होंने पी चिदंबरम के ट्वीट को रिट्ववीट करते हुए लिखा, "चूंकि कांग्रेस के पास बात करने के लिए गुड गवर्नेंस का कोई एजेंडा नहीं है, इसलिए बिहार चुनाव से पहले ये लोग 'डिवाइड इंडिया' की डर्टी ट्रिक्स पर आ गए हैं."

नड्डा ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा कि राहुल गांधी पाकिस्तान की तारीफ करते हैं और चिदंबरम  कहते हैं कि कांग्रेस चाहती है कि अनुच्छेद 370 वापस हो जाए. 

बता दें कि महबूबा मुफ्ती ने नजरबंदी से बाहर आते ही कहा था कि 5 अगस्त के काले दिन का काला फैसला उनकी रूह पर वार कर रहा है और इसकी बहाली के लिए वे संघर्ष करेंगी. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें