scorecardresearch
 

त्रिपुरा, BSF के अधिकार क्षेत्र के मुद्दे पर PM मोदी से मिलेंगी ममता बनर्जी

त्रिपुरा मामले को लेकर टीएमसी भारतीय जनता पार्टी पर हमलावर बनी हुई है. टीएमसी के सांसद दिल्ली में धरना दे रहे हैं, वहीं ममता बनर्जी भी दिल्ली पहुंचकर आज सांसदों से मुलाकात करेंगी. बुधवार को उनकी मुलाकात प्रधानमंत्री से भी होने वाली है, इस दौरान वे बीएसएफ के मुद्दे पर बात करेंगी. बातचीत में ममता बनर्जी ने कई मसलों को सामने रखा.

X
ममता बनर्जी     (FILE) ममता बनर्जी (FILE)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • त्रिपुरा केस: बुधवार को पीएम से मिलेंगी ममता
  • ममता बोलीं—त्रिपुरा में लोगों पर अत्याचार हो रहा है
  • आज धरना दे रहे सांसदों से दिल्ली में मिलेंगी

टीएमसी नेता की गिरफ्तारी के बाद ममता बनर्जी और पार्टी सहित अन्य दल बीजेपी पर निशाना साधे हुए हैं. ममता ने त्रिपुरा मामले को लेकर बीजेपी पर कई गंभीर आरोप लगाए. त्रिपुरा सहित बीएसएफ मामले को लेकर वे दिल्ली जा रही हैं. कई टीएमसी सांसद पहले ही दिल्ली पहुंच चुके हैं. उनके दिल्ली जाने से पहले उनसे हुई बातचीत में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. ऐसे में मानवाधिकार भी कहीं नजर नहीं आ रहा.

 ममता बनर्जी ने बातचीत में कहा कि त्रिपुरा में जो अत्याचार हो रहा है बीजेपी शासित राज्यों में गणतंत्र कंकाल में तब्दील हो चुका है. शायनी जैसी कलाकार को भी गिरफ्तार कर लिया गया है, उसके खिलाफ हत्या की कोशिश का मामला बना दिया गया है. कल से वह सलाखों के पीछे है.

उन्होंने कहा कि अभिषेक बनर्जी आज त्रिपुरा गए हैं, वहां अत्याचार हो रहे हैं. कितने लोगों को हमें वहां से ले जाकर कोलकाता के अस्पताल में ट्रीटमेंट के लिए ले जाना पड़ रहा है. वहां पर इलाज तक नहीं करने दे रहे. अब ह्यूमन राइट्स कमीशन कहां गया, लेफ्ट राइट कमीशन कहां गया. हमारे यहां थोड़ा कुछ होने पर बहुत कुछ बोलते हैं.

झूठे वीडियो के जरिए फैला रहे फेक न्यूज

झूठे वीडियो के जरिए भारत से लेकर यूके तक फेक न्यूज़ फैला रहे हैं. मैं आज दिल्ली जा रही हूं. दिल्ली में हमारे सांसद कल से ही गृहमंत्री का अपॉइंटमेंट मांग रहे हैं. त्रिपुरा में अग्निगर्भ सी परिस्थिति है. बीजेपी शासित राज्यों में गणतंत्र नहीं है. बात—बात पर कत्ल कर दे रहे हैं. गुंडे हथियार लेकर खुलेआम सड़कों पर घूम रहे हैं.

कोर्ट के आदेश के बाद भी नहीं दिया जा रहा समय

ममता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद मीटिंग या जुलूस नहीं करने दिया जा रहा है. चुनाव के नाम पर प्रहसन चल रहा है. बावजूद इसके हमारे कार्यकर्ता मार खाकर भी अपना काम किए जा रहे हैं. गृहमंत्री बीजेपी के हैं, लेकिन हैं तो वह देश के गृहमंत्री. कल रात से हमारे सांसद उन से अपॉइंटमेंट मांग रहे हैं त्रिपुरा की यह हालत कर रखी है, लेकिन वह अपॉइंटमेंट नहीं दे रहे. कल रात ही सांसद ने कहा था कि कल वह गृह मंत्री के आवास के बाहर अनशन पर बैठ रहे हैं. मैंने ही मना किया था कि गृह मंत्री के आवास पर बैठना सही नहीं है. आज सुबह से उनके दफ्तर के बाहर वह बैठे हुए हैं, लेकिन एक सौजन्यता तक नहीं है कि उनको अपॉइंटमेंट दी जाए.

ममता बोलीं- बलपूर्वक नहीं होने दूंगी जमीन पर कब्जा

ममता बनर्जी ने कहा कि मैं आज दिल्ली जा रही हूं. परसों मेरी प्रधानमंत्री से मुलाकात तय है. मेरे राज्य की काफी सारी बातें हैं और खासकर बीएसएफ के मुद्दे पर मैं बात करने जा रही हूं. बलपूर्वक मैं जमीन पर कब्जा करने नहीं दूंगी. बीएसएफ मेरी दुश्मन नहीं है, वह मेरे दोस्त हैं, लेकिन बीजेपी जिस तरीके से एजेंसी के माध्यम से जमीन में दाखिल करने की कोशिश कर रही है, यह सही नहीं है. प्रत्येक संगठन की अपनी स्वायत्तता है. मैं आज दिल्ली जा रही हूं. मैं सीधे सांसदों के पास जाऊंगी, उनसे मिलूंगी, लेकिन धरना ज्वाइन नहीं करूंगी, वह सुबह से बैठे हुए हैं, उनसे मिलना जरूरी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें