scorecardresearch
 

गुजरात निकाय चुनावः नतीजों से गदगद AAP, 26 को सूरत में रोड शो करेंगे केजरीवाल

आम आदमी पार्टी ने गुजरात की सूरत महानगर पालिका में भाजपा-कांग्रेस को चौंकाते हुए 27 सीटों पर जीत हासिल की है, जिससे उसे 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में एक रास्ता मिल गया है. सूरत महानगर पालिका में कांग्रेस को पीछे छोड़ते हुए बीजेपी के सामने अब AAP एक प्रमुख विपक्षी बन गई है.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (पीटीआई) दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गुजरात नगर निगम चुनाव में AAP का दमदार प्रदर्शन
  • सूरत महानगर पालिका में 27 सीटों पर जीती AAP

गुजरात नगर निगम चुनाव में जीत से गदगद आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल 26 फरवरी को सूरत में रोड शो करेंगे. AAP ने भारतीय जनता पार्टी के गढ़ गुजरात में संपन्न हुए नगर निगमों के चुनाव में धमाकेदार एंट्री की है. 

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘नई राजनीति की शुरुआत करने के लिए गुजरात के लोगों को दिल से बधाई।’’ उन्होंने कहा कि गुजरात के लोगों ने काम की राजनीति को वोट दिया. गुजरात के लोग भाजपा और कांग्रेस की राजनीति से त्रस्त थे. गुजरात के लोगों को एक विकल्प चाहिए था और आम आदमी पार्टी के रूप में उनको विकल्प मिला है. अब आने वाला चुनाव सिर्फ आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच होगा.

कांग्रेस को पीछे छोड़ विपक्षी पार्टी बनी AAP

AAP ने गुजरात की सूरत महानगर पालिका में भाजपा-कांग्रेस को चौंकाते हुए 27 सीटों पर जीत हासिल की है, जिससे उसे 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में एक रास्ता मिल गया है. सूरत महानगर पालिका में कांग्रेस को पीछे छोड़ते हुए बीजेपी के सामने अब आम आदमी पार्टी एक प्रमुख विपक्षी बन गई है. सूरत इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद सीआर पाटिल सूरत के ही हैं और उनकी नाक के नीचे आम आदमी पार्टी को मिली ऐसी कामयाबी उसके लिए किसी बड़े मुकाम से कम नहीं है.

सेटिंग की रानजीति का अंत हुआ

इधर, गुजरात में कैंपेन का मुख्य चेहरा रहे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि गुजरात के सभी शहरों में लोग आम आदमी पार्टी पर भरोसा जता रहे हैं. भाजपा के गढ़ सूरत में आम आदमी पार्टी नंबर दो पर है. लोग अब परिवर्तन चाह रहे हैं और वो आम आदमी पार्टी के रूप में देख रहे हैं. अभी तक गुजरात में जो सेटिंग की राजनीति थी, उसका अंत हो गया. अब सेटिंग की राजनीति नहीं चलेगी, अब जनता के मुद्दे चलेंगे. हम जनता के मुद्दों को सड़क पर भी उठाएंगे और सदन में भी उठाएंगे.

"कांग्रेस नाम की कोई तीसरी पार्टी नहीं है"

AAP के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मोदी के गढ़ में लोग भाजपा को बदलने की कोशिश कर रहे हैं और वो मौका कांग्रेस की जगह आम आदमी पार्टी को दे रहे हैं. यह पहली बार सच होने जा रहा है कि गुजरात में सिर्फ भाजपा और आम आदमी पार्टी ही है, वहां कांग्रेस नाम की कोई तीसरी पार्टी नहीं है.

उन्होंने कहा कि देश भर से कांग्रेस अब खत्म होती जा रही है, जब तक कांग्रेस खत्म नहीं होगी, तब तक भाजपा की सरकारें बनती रहेंगी, क्योंकि कांग्रेस-भाजपा की ऑक्सीजन है. सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पूरे देश में कहा जाता था कि गुजरात दो पार्टियों का राज्य है. मुझे लगता है कि आज पहली बार यह सच होने जा रहा है कि गुजरात दो पार्टियों का राज्य है, जहां भाजपा और आम आदमी पार्टी है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें