scorecardresearch
 

असम में कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, चार बार के MLA रूपज्योति कुर्मी ने पार्टी छोड़ी

असम में चार बार के विधायक रूपज्योति कुर्मी ने शुक्रवार को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया और साथ ही विधानसभा की सदस्यता भी छोड़ दी है. उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधीनेतृत्व करने में असमर्थ हैं. माना जा रहा है कि कुर्मी बीजेपी का दामन थाम सकते हैं.  

विधायक रूपज्योति कुर्मी ने कांग्रेस छोड़ी विधायक रूपज्योति कुर्मी ने कांग्रेस छोड़ी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • असम में कांग्रेस विधायक ने दिया इस्तीफा
  • रूपज्योति कुर्मी चौथी बार कांग्रेस से विधायक
  • चाय बगान मजदूरों के इलाके से आते हैं कुर्मी

कांग्रेस को एक के बाद एक राज्य में सियासी झटके लग रहे हैं. जितिन प्रसाद के पार्टी छोड़ने का जख्म अभी भरा भी नहीं था कि असम में चार बार के विधायक रूपज्योति कुर्मी ने शुक्रवार को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया और साथ ही विधानसभा की सदस्यता भी छोड़ दी है. उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं. माना जा रहा है कि कुर्मी बीजेपी का दामन थाम सकते हैं.  

असम में जोरहाट जिले के मरियानी निर्वाचन क्षेत्र के विधायक रूपज्योति कुर्मी ने कांग्रेस का साथ छोड़ दिया है और उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व पार्टी युवा नेताओं की आवाज की अनदेखी करता है. रूपज्योति ने कहा कि कांग्रेस अपने युवा नेताओं की नहीं सुन रही है. इसलिए, सभी राज्यों में पार्टी की स्थिति खराब हो रही है. गुवाहाटी के नेता बुजुर्ग नेताओं को ही प्राथमिकता देते हैं.

रूपज्योति कुर्मी ने कहा कि हमने पार्टी से शीर्ष नेतृत्व से कहा था कि कांग्रेस के पास इस बार सत्ता में आने का अच्छा मौका है और हमें एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह एक गलती होगी. यह वास्तव में गलती थी. इसका खामियाजा चुनाव में पार्टी को उठाना पड़ा. साथ ही उन्होंने कहा कि राहुल गांधी पार्टी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं, उनके शीर्ष पर रहते हुए पार्टी आगे नहीं बढ़ेगी. 

ये भी पढ़ें: असम में प्लास्टिक कचरे से उपयोगी सामान बना कर इस महिला ने जला रखी है पर्यावरण की ज्योति 

वहीं, कांग्रेस ने रूप ज्योतिकुर्मी को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पार्टी से निष्कासित कर दिया. असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा कि इस फैसले को कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व ने मंजूरी दी है. बोरा ने पूर्व विधायक राणा गोस्वामी की अगुवाई में तीन सदस्यीय दल बनाया है जो मारिअनी क्षेत्र में जाकर वहां राजनीतिक हालात का जायजा लेगा. 

बता दें कि रूपज्योति कुर्मी असम के चाय बागान श्रमिक समुदाय से आते हैं. वह कांग्रेस के मंत्री रह चुके रूपम कुर्मी के पुत्र हैं और मरिआनी क्षेत्र से 2006 से चुनाव जीतते रहे हैं. इस बार चौथी बार विधायक बने थे, लेकिन अब उन्होंने कांग्रेस और अपनी विधानसभा सदस्यता दोनों ही छोड़ दी है. माना जा रहा है कि जल्द ही वो बीजेपी का दामन थाम सकते हैं. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें