scorecardresearch
 

हैदराबाद निकाय चुनाव में उतरेंगे अमित शाह और योगी आदित्यनाथ, नड्डा भी करेंगे प्रचार

सबसे पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ 27 नवंबर को हैदराबाद जाएंगे जबकि जेपी नड्डा 28 नवंबर को यहां पहुंचेंगे. इन दो बड़े नेताओं के बाद केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी हैदराबाद की धरती पर उतरकर वोट मांगेंगे. अमित शाह 29 नवंबर को यहां पहुंचेंगे. 

अमित शाह और योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो-PTI) अमित शाह और योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हैदराबाद निकाय चुनाव में फुल फोर्स के साथ उतरी बीजेपी
  • प्रचार करने जाएंगे अमित शाह, नड्डा और यूपी के सीएम योगी
  • ओवैसी के गढ़ हैदराबाद में बीजेपी के नेता भरेंगे हुंकार

हैदराबाद नगर निगम का चुनाव इस बार राष्ट्रीय राजनीति का केंद्र बनता दिखाई दे रहा है. भारतीय जनता पार्टी फुल फोर्स के साथ ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिल कॉर्पोरेशन (GHMC) चुनाव में उतर रही है. पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व प्रचार करने हैदराबाद पहुंच रहा है. 

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से लेकर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी हैदराबाद लोकल बॉडी चुनाव में प्रचार करने पहुंचेंगे. सबसे पहले यूपी के सीएम 27 नवंबर को हैदराबाद जाएंगे. योगी यहां रोड शो और रैली करेंगे. वो मल्कज्गिरी और हैदराबाद संसदीय क्षेत्र में प्रचार करेंगे. 

सीएम योगी के बाद अगले दिन यानी 28 नवंबर को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा हैदराबाद पहुंचेंगे. नड्डा मल्कज्गिरी क्षेत्र में प्रचार करेंगे.

इन दो बड़े नेताओं के बाद केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी हैदराबाद की धरती पर उतरकर वोट मांगेंगे. अमित शाह 29 नवंबर को यहां पहुंचेंगे. अमित शाह सिकंदराबाद इलाके में रोड शो करेंगे. साध्वी निरंजन ज्योति भी बीजेपी के लिए प्रचार करने हैदराबाद पहुंचेंगी.

बीजेपी के ये नेता 1 दिसंबर को होने जा रहे हैदराबाद नगर निगम चुनाव में बीजेपी के लिए वोट की अपील करेंगे. ये बेहद दिलचस्प होगा जब अमित शाह और योगी आदित्यनाथ AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी के गढ़ हैदराबाद में प्रचार के लिए उतरेंगे. क्योंकि बीजेपी और औवैसी की पार्टी के नेताओं के बीच लगातार वार-पलटवार चल रहे हैं. 

देखें: आजतक LIVE TV 

बीजेपी नेता तेजस्वी सूर्या ने ओवैसी पर जिन्ना के अवतार होने का आरोप लगाया है और कहा है कि उनके लिए वोट करना भारत के खिलाफ वोट करने जैसा है. साथ ही हैदराबाद में रोहिंग्या मुसलमानों का मुद्दा भी बीजेपी उठा रही है. ओवैसी की पार्टी के नेता भी जमकर पलटवार कर रहे हैं. ओवैसी तो सीधे गृहमंत्री अमित शाह को चुनौती दे चुके हैं. जबकि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष हैदराबाद ओल्ड सिटी में सर्जिकल स्ट्राइक करने तक की बात कह चुके हैं.

कुल मिलाकर हैदराबाद लोकल बॉडी चुनाव बेहद दिलचस्प हो गया है. 1 दिसंबर को 150 वार्ड के लिए करीब 10 हजार पोलिंग सेंटर पर मतदान कराया जाएगा. जबकि चुनाव के नतीजे 4 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें