scorecardresearch
 

Taj Mahal Controversy: ताजमहल या तेजो महालय? देखें मामले पर कोर्ट पहुंचे याचिकाकर्ता ने क्या कहा

Taj Mahal Controversy: ताजमहल या तेजो महालय? देखें मामले पर कोर्ट पहुंचे याचिकाकर्ता ने क्या कहा

ताजमहल के नीचे 22 कमरों वाला राज काफी गहरा है. धर्मगुरु से लेकर इतिहासकार तक अब खुलकर बोलने लगे हैं कि ताजमहल पहले तेजो महालय था या नहीं. ये मामला अब इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच के सामने है. अदालत में एक याचिका दायर की गई है जिसमें कहा गया है कि ताजमहल के 22 बंद कमरों में तेजो महालय के पुख्ता सबूत हैं. याचिका के मुताबिक वो सबूत हिंदू देवी देवताओं की मूर्ति के रूप में हैं. फिलहाल उन 22 कमरों में किसी को जाने की इजाजत नहीं. याचिकाकर्ता का कहना है कि उन सभी 22 कमरों को खोला जाए ताकि मंदिर या इबादतगाह वाले विवाद का अंत हो. देखें ये रिपोर्ट.

A petition has been filed in the court stating that there is strong evidence of Tejo Mahalaya in the 22 closed rooms of the Taj Mahal. According to the petition, the evidence is in the form of idols of Hindu deities. The petitioner says that all those 22 rooms should be opened to reveal their secrets. Watch this report.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें