scorecardresearch
 

AK-203 राइफल की खासियतें, जो भारतीय सेना में INSAS की ले सकेंगी जगह

AK-203 राइफल की खासियतें, जो भारतीय सेना में INSAS की ले सकेंगी जगह

दुश्मनों से टकराने के लिए भारतीय सेना के मिशन को मजबूत करने वाले कदम उठाए जा रहे हैं. रूस की AK-203 राइफलों के भारत में निर्माण का रास्ता साफ हो गया है. AK-203 राइफलों पर रूस के साथ रक्षा सौदे को भारत में डिफेंस एक्वीजिशन काउंसिल की मंजूरी मिली है. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन अगले महीने भारत आने वाले हैं. उनकी यात्रा के पहले इस अहम रक्षा समझौते की अड़चनें दूर हुई हैं. करीब पांच हजार करोड़ रुपये के इस सौदे के तहत, भारत और रूस संयुक्त उपक्रम उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में एक उत्पादन इकाई में 10 साल के भीतर 6 लाख से ज्यादा 'ए के 203' राइफलों का निर्माण करेगा. आइये जानते हैं ऐसा क्या ख़ास है इस राइफल में. देखें वीडियो.

As many as 6,01,427 AK203 assault rifles will be manufactured at a plant set up in Amethi in Uttar Pradesh by the Indo-Russia Rifles Private Limited. A joint venture of the Ordnance Factory Board (OFB) of India and the Kalashnikov Concern and Rosoboronexport of Russia. Know specialities of Ak 203 rifle in this Video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×