scorecardresearch
 

Corona काल में महंगाई की मार, Gold Loan लेने की दर में 82% तक का उछाल

Corona काल में महंगाई की मार, Gold Loan लेने की दर में 82% तक का उछाल

महंगाई है कि थमने का नाम नहीं ले ही है. रिपोर्ट आई है कि जिन्होंने कोरोना काल में अपने घर के गहने गिरवी रखकर खर्च चलाना चाहा, वो अब अपने घर के गहने वापस नहीं ले पाए. जनता का सोना बाजार में बिकने लगा. ऐसे में महंगाई पर राजनीति की दस्तक तेज हुई है. आरबीआई का डेटा कहता है कि मार्च 2020 के मुकाबले मार्च 2021 तक एक साल में सोना गिरवी रखकर लोन लेने की दर में 82% तक का उछाल आया है. जबकि गोल्ड के बदले लोन देने वाली एक बड़ी कंपनी ने मार्च के बाद 3 महीने में 404 करोड़ रुपए का सोना बेचा है. दावा है कि ये सोना वही है जो जनता ने गिरवी रखकर अपना घर खर्च, अपनी जरूरतें पूरी करनी चाही लेकिन कर्ज नहीं चुका पाई. और ये नौबत उन परिवारों पर आई, जिनकी जमा पूंजी कोरोना की पहली लहर में ही खत्म हो गई. देखिए ये रिपोर्ट.

According to a report, people who ran their expenses by mortgaging the gold during the Corona period, have not been able to take payback the debt and take back their golden ornaments. The gold of the common man started to sell in the market by lenders. RBI data says that there has been a jump of up to 82% in the rate of the gold loan in a year till March 2021 as compared to March 2020. Watch this report to know more.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें