scorecardresearch
 

अमीरों-पूंजीपतियों के लिए कोरोना किसी वरदान से कम नहीं, जान‍िए कैसे

अमीरों-पूंजीपतियों के लिए कोरोना किसी वरदान से कम नहीं, जान‍िए कैसे

कोरोना महामारी को लेकर हमने यही देखा है कि ये वायरस बहुत खतरनाक है, लोगों को बीमार बनाकर उसकी जान ले लेता है. इस महामारी ने लोगों से उनका रोजगार और गरीबों से उनकी मजदूरी भी छीन ली. ये वायरस लोगों के जीवन में संकट और दुखों का सबसे बड़ा कारण बना. लेकिन आपको जानकार आश्चर्य होगा कि दुनिया के अमीर और पूंजीपति वर्ग के लिए ये वायरस किसी वरदान से कम नहीं है. कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर के अमीरों का धन और व्यापार में अथाह विस्तार हुआ है. आज वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम 2022 का पहला दिन है और इसी मौके पर ऑक्सफैम इंडिया की तरफ से वार्षिक असमानता सर्वे जारी किया गया है. इस सर्वे के अनुसार कोरोना काल में भारतीय अरबपतियों की कुल संपत्ति दोगुनी से ज्यादा हो गई. ज्यादा जानकारी के लिए देखें ये वीडियो.

Where this Coronavirus became the biggest cause of distress and misery in people's lives. On the other hand the wealth and business of the rich around the world has expanded tremendously due to the corona virus. Today Oxfam India released the annual inequality survey. According to this survey, the total wealth of Indian billionaires more than doubled during the Corona period. Watch.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें