scorecardresearch
 

धर्मांतरण रैकेट: सरकारी विभाग के अधिकारी से जुड़े तार! कतर से फंडिंग के भी मिले सबूत

धर्मांतरण रैकेट: सरकारी विभाग के अधिकारी से जुड़े तार! कतर से फंडिंग के भी मिले सबूत

यूपी के अवैध धर्मांतरण केस में कोर्ट ने दोनों आरोपियों को एक हफ्ते की रिमांड पर एटीएस को सौंप दिया. एटीएस उमर गौतम और जहांगीर से पूछताछ करेगी. इस पूछताछ में केंद्रीय एजेंसियां भी शामिल होंगी. धर्मांतरण मामले की जांच में एक और बड़ा खुलासा हुआ है. पता चला है कि महिला एवं बाल कल्याण विभाग का एक अधिकारी इन आरोपियों की मदद करता था. जानकारी के मुताबिक ये अधिकारी जरूरतमंद लोगों की लिस्ट बनाकर आरोपियों को देता था. जल्द ही इस अधिकारी से भी पूछताछ हो सकती है. जांच एजेंसियों को ये भी पता लगा है कि धर्म परिवर्तन के मामले में एक नहीं बल्कि दो संगठनों की भूमिका है, जिन्हें कतर से भी पैसे मिलने के सबूत मिले हैं.

Maulana Umar Gautam has been arrested by Uttar Pradesh police for being part of a religious conversion racket. According to the police, Gautam offered people jobs, money, marriage, and other facilities.The police have intensified the probe in the matter. Many more revelations might appear in the case.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें