scorecardresearch
 

Air India Privatisation का खुला रास्ता, Tata Sons ने जीती बोली

Air India Privatisation का खुला रास्ता, Tata Sons ने जीती बोली

टाटा कंपनी ने एयर इंडिया की बोली जीत ली है. इसी के साथ एयर इंडिया प्राइवेटाइजेशन का रास्ता खुल गया है. टाटा ग्रुप ने सबसे ज्यादा कीमत लगाकर ये बोली जीत ली है. देश की सबसे बड़ी सरकारी एयरलाइन एअर इंडिया की बिक्री के लिए टाटा ग्रुप और स्पाइसजेट के अजय सिंह ने बोली लगाई थी. एयर इंडिया की शुरुआत 1932 में टाटा ग्रुप के जे. आर. डी. टाटा ने ही की थी, वे खुद भी एक बेहद कुशल पायलट थे. 1953 में एयर इंडिया पूरी तरह से सरकारी कंपनी बन गयी थी लेकिन अब ये दोबारा से पप्राइवेट हो गयी है. देखें पूरी रिपोर्ट.

Tata Company has won the bid for Air India. The way for Air India privatization has been opened. Tata Group has won this bid by putting the highest price. Ajay Singh of SpiceJet had also bid for the sale of Air India. The company was turned into a government organization in 1953 but now it is privatized again. Watch the full report.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें