scorecardresearch
 

KCR की दिल्ली में Kejriwal से मुलाकात, राष्ट्रीय राजनीति में खुद को आजमाने निकले हैं तेलंगाना CM

Telangana Cm Kcr: मीटिंग के बाद KCR ने बताया कि उन्होंने केजरीवाल से राष्ट्रीय राजनीति, केंद्र की नीतियों, संघीय व्यवस्था, भारत के विकास में राज्यों का योगदान सहित कई अहम मुद्दों को लेकर बातचीत की.

X
दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक का मुआयना करते तेलंगाना के सीएम केसीआर, साथ हैं अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया. दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक का मुआयना करते तेलंगाना के सीएम केसीआर, साथ हैं अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • केजरीवाल से मिलने उनके आवास पर पहुंचे केसीआर
  • पूरे देश की यात्रा पर निकले हैं तेलंगाना के सीएम

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले कई क्षेत्रीय नेता खुद को केंद्र में स्थापित करने की जुगत भिड़ा रहे हैं. इस लिस्ट में अब तेलंगाना के मुख्यमंत्री और तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के नेता के. चंद्रशेखर राव यानी KCR का नाम भी शामिल हो चुका है. इसी कड़ी में KCR ने रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनके आवास पर मुलाकात की. 

मीटिंग के बाद KCR ने बताया कि दोनों नेताओं के बीच राष्ट्रीय राजनीति, केंद्र की नीतियों, संघीय व्यवस्था, भारत के विकास में राज्यों का योगदान सहित कई अहम मुद्दों को लेकर बातचीत हुई. इस दौरान राज्य के मंत्री वी प्रशांत रेड्डी, सांसद जोगीनापल्ली संतोष कुमार, नामा नागेश्वर राव, रंजीत रेड्डी, वेंकटेश नेथा, डॉ. मेथुकु आनंद सहित CM के प्रतिनिधि मंडल के कई सदस्य मौजूद रहे.

बता दें कि KCR पूरे देश की यात्रा पर निकले हैं. केजरीवाल से मुलाकात करने के अलावा केसीआर आर्थिक मामलों के विशेषज्ञों के साथ भी मुलाकात कर देश की मौजूदा आर्थिक स्थिति पर विचार-विमर्श करेंगे. आज केसीआर चंडीगढ़ में किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों से मुलाकात कर उनको 3-3 लाख रुपये की आर्थिक मदद देंगे. इस कार्यक्रम में यूपी के किसान परिवार भी शामिल रहेंगे. केसीआर के साथ आम आदमी पार्टी के संयोजक व दिल्ली की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के सीएम भगवंत मान सिंह भी मौजूद रहेंगे.

दिल्ली-पंजाब के बाद केसीआर 26 मई को कर्नाटक जाएंगे. इस दौरान केसीआर पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा से मुलाकात करेंगे. 27 मई को वो महाराष्ट्र के रालेगण सिद्धि जाएंगे और सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजार से मिलेंगे. साथ ही वह शिरडी साईं बाबा के दर्शन करेंगे फिर वहां से वो हैदराबाद लौट आएंगे.

मई के आखिरी हफ्ते यानी 29 और 30 मई को तेलंगाना सीएम केसीआर पश्चिम बंगाल और बिहार के दौरे पर जाएंगे. इस दौरान वह गलवान घाटी में मारे गए सैनिकों के परिवार के सदस्यों को 3-3 लाख रुपये की आर्थिक मदद सौंपेंगे. केसीआर की यह पूरी कवायद राष्ट्रीय राजनीति में अपने लिए संभावना तलाशने के लिए है.

केसीआर ने पहले भी मोदी सरकार के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाते रहे हैं. साल 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए विपक्षी गठबंधन की बात कह चुके हैं और इस दिशा में कई बार कोशिश भी कर चुके हैं. केसीआर ने हाल ही में आई-पैक के साथ अनुबंध किया है, जिसके साथ चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर जुड़े हुए थे.

बंगाल चुनाव के बाद पीके ने खुद को आई-पैक से अलग कर लिया था, लेकिन जिस समय केसीआर के साथ आई-पैक के बीच अनुबंध की बातचीत चल रही थी. उसी दौरान प्रशांत किशोर तेलंगाना में थे और केसीआर के साथ मीटिंग की थी. इसी के बाद आई-पैक ने केसीआर के लिए चुनावी रणनीति का काम शुरू किया है. केसीआर का यह दौरा कहीं न कहीं मिशन 2024 के लिए किया जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें