scorecardresearch
 

1947: देश बंटा तो जुदा हो गए 2 भाई, 74 साल बाद करतारपुर में मिले, खूब रोये

सोशल मीडिया पर दोनों भाइयों की मुलाकात का वीडियो भी वायरल हो रहा है. इसमें दोनों भाई करतारपुर कॉरिडोर में दिखाई दे रहे हैं. उनके साथ कुछ लोग भी हैं. वीडियो में दोनों भाई एक दूसरे को भावुक होकर गले लगाते नजर आए.

करतारपुर कॉरिडोर में मिलकर भावुक हो गए दोनों भाई करतारपुर कॉरिडोर में मिलकर भावुक हो गए दोनों भाई
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 1947 के बंटवारे के दौरान अलग हो गए थे दोनों भाई
  • 74 साल बाद करतारपुर कॉरिडोर में हुई मुलाकात

1947 में भारत-पाकिस्तान के बंटवारे के वक्त मोहम्मद सिद्दीकी एक बच्चे थे. उनका परिवार बिखर गया. सिद्दीकी के भाई हबीब उर्फ शेला बंटवारे के बाद भारत में पले बढ़े. अब 74 साल बाद करतारपुर कॉरिडोर (जो पाकिस्तान में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत से जोड़ता है) ने दोनों को मिला दिया. 

सोशल मीडिया पर दोनों भाइयों का वीडियो वायरल हो रहा है. इसे देखकर लोग काफी इमोशनल हो रहे हैं और तरह तरह के कमेंट कर रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मोहम्मद सिद्दीकी पाकिस्तान के फैसलाबाद में रहते हैं. जबकि उनके भाई भारत के पंजाब में रहते हैं. करतारपुर में दोनों एक दूसरे को देखकर भावुक हो गए. दोनों भाई गले लगाकर रोते नजर आए.

सोशल मीडिया पर दोनों भाइयों की मुलाकात का वीडियो भी वायरल हो रहा है. इसमें दोनों भाई करतारपुर कॉरिडोर में दिखाई दे रहे हैं. उनके साथ कुछ लोग भी हैं. वीडियो में दोनों भाई एक दूसरे को भावुक होकर गले लगाते नजर आए.  

दोनों भाइयों ने भारत और पाकिस्तान की सरकार को करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर धन्यवाद दिया है. कॉरिडोर के माध्यम से भारत के लोग बिना वीजा के पाकिस्तान स्थित करतारपुर जा सकते हैं. यह कॉरिडोर नवंबर 2019 में शुरू हुआ था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×