scorecardresearch
 

Explainer: बिहार से यूपी तक सड़कों पर क्यों हैं छात्र? जानें RRB NTPC Result को लेकर क्या है विवाद?

RRB NTPC Result Issue: आरआरबी एनटीपीसी के रिजल्ट में धांधली का आरोप लगाते हुए छात्रों का हंगामा जारी है. गया में छात्रों ने आज पैसेंजर ट्रेन को आग के हवाले कर दिया.

X
छात्रों ने RRB NTPC Result में धांधली का आरोप लगाया है. (फोटो-PTI) छात्रों ने RRB NTPC Result में धांधली का आरोप लगाया है. (फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तीन दिन से जारी है छात्रों का हंगामा
  • गया में आज पैसेंजर ट्रेन को फूंक दिया

RRB NTPC Result: रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की एनटीपीसी परीक्षा के रिजल्ट में धांधली का आरोप लगाते हुए अभ्यर्थियों ने लगातार तीसरे दिन बुधवार को भी जमकर हंगामा किया. अभ्यर्थियों का ये प्रदर्शन बिहार से लेकर यूपी तक जारी है. बुधवार को गुस्साए अभ्यर्थियों ने कई जगह ट्रेनों को आग लगा दी. 

बुधवार को छात्रों ने गया रेलवे स्टेशन में चलती ट्रेन पर पत्थरबाजी की. इसके अलावा यार्ड में खड़ी पैसेंजर ट्रेन को आग के हवाले कर दिया. मंगलवार को भी अभ्यर्थियों ने पटना, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, आरा और बक्सर में जमकर बवाल किया था.

लेकिन ये बवाल क्यों हो रहा है?

- रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड (आरआरबी) ने 2019 में एनटीपीसी यानी नॉन टेक्निनकल पॉपुलर कैटेगरी की परीक्षा में भर्ती निकाली. इसमें 35 हजार 281 वैकेंसी थी. इनमें से 24 हजार 281 पद ग्रेजुएट और 11 हजार पद अंडर ग्रेजुएट (12वीं पास) के लिए थे. इन्हें 5 लेवल 2, 3, 4, 5, 6 में बांटा गया था.

- अलग-अलग लेवल में योग्यता और तनख्वाह अलग-अलग तय थी. जैसे लेवल-2 जॉब के लिए 12वीं पास होना जरूरी था और इसमें 19 हजार तनख्वाह तय थी. इसी तरह लेवल-6 के लिए ग्रेजुएट होना जरूरी है और इसमें 35 हजार तनख्वाह है.

ये भी पढ़ें-- RRB NTPC, Group D 2022: कमेटी 04 मार्च को देगी अपनी रिपोर्ट, छात्र यहां दे सकते हैं अपने सुझाव

4 प्वॉइंट में समझें, पूरा विवाद

1. परीक्षा मार्च 2020 में होनी थी, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से आगे बढ़ गई. उसके बाद दिसंबर 2020 से जुलाई 2021 के बीच ये परीक्षा हुई. 14 जनवरी 2022 को इसका रिजल्ट आया. इसमें 7 लाख 5 हजार 446 छात्र पास हुए. यानी 35 हजार पदों के लिए 20 गुना ज्यादा अभ्यर्थियों ने दूसरे राउंड के लिए क्वालिफाई कर लिया.

2. परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों का आरोप है कि ज्यादा क्वालिफिकेशन वाले लोग भी लेवल 2 जॉब के लिए एग्जाम में बैठ रहे हैं. वहीं, अधिकारियों का कहना है कि ज्यादा क्वालिफिकेशन वालों को कम योग्यता वाली जॉब के एग्जाम में बैठने से नहीं रोका जा सकता.

3. रेलवे का कहना है कि 20 गुना ज्यादा अभ्यर्थी पास हुए हैं, लेकिन अभ्यर्थियों का आरोप है कि इसमें उन ग्रेजुएट छात्रों को भी शामिल कर लिया गया है, जिन्होंने अंडर ग्रेजुएट में भी क्वालिफाई किया है. उनका कहना है कि ऐसे तो कभी उनका सिलेक्शन नहीं होगा क्योंकि ग्रेजुएट उनसे ज्यादा सक्षम हैं.

4. रेलवे का तर्क है कि ऐसा इसलिए किया गया ताकि एक भी पद खाली न रहे. रेलवे ने ये भी कहा कि जब फाइनल रिजल्ट आएगा तो 35 हजार 281 पदों की भर्तियों की लिस्ट होगी. किसी भी उम्मीदवार को एक से ज्यादा पद पर नियुक्त नहीं किया जाएगा.

NTPC CBT 2 और Group D CBT 1 परीक्षा स्थगित

- यूपी और बिहार में अभ्यर्थियों के उग्र प्रदर्शन के बीच रेलवे ने NTPC CBT 2 और Group D CBT 1 की परीक्षा को स्थगित करने का फैसला लिया है. 

- इसके साथ ही एक कमेटी का गठन भी किया है जो रिजल्ट पर पुनर्विचार करेगी. ये कमेटी 4 मार्च तक अपनी रिपोर्ट देगी. रिजल्ट पर पुनर्विचार होने तक परीक्षाएं स्थगित रहेंगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें