scorecardresearch
 

मजदूरों की मौत पर राहुल बोले- उनका मरना देखा जमाने ने, एक मोदी सरकार है जिसे खबर ना हुई

मोदी सरकार का कहना है कि उनके पास ऐसा कोई आंकड़ा नहीं है, जो बता सके कि लॉकडाउन में कितने मजदूरों की जान गई है. इसी मसले पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को सरकार को घेरा है.

राहुल गांधी ने सरकार पर साधा निशाना राहुल गांधी ने सरकार पर साधा निशाना
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोदी सरकार पर राहुल गांधी का वार
  • सरकार को मजदूरों की मौत का नहीं पता: राहुल

संसद के मॉनसून सत्र के पहले दिन केंद्र सरकार द्वारा दिया गया एक जवाब सुर्खियों में है. लॉकडाउन में कितने मजदूरों की जान गई, इस सवाल पर सरकार का कहना है कि उनके पास आंकड़ा नहीं है. अब इसी मसले पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार को घेरा है. राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मज़दूर मरे और कितनी नौकरियां गईं.

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में शायरी का सहारा लिया और सरकार को घेरा. कांग्रेस नेता ने लिखा, ‘तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई? हां मगर दुख है सरकार पे असर ना हुई, उनका मरना देखा ज़माने ने, एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई’.


आपको बता दें कि कोरोना वायरस संकट के बाद जब देश में लॉकडाउन लगा था, तो प्रवासी मजदूरों पर काफी असर हुआ था. लाखों की संख्या में प्रवासी मजदूर सड़कों पर थे, इस दौरान कई की मौत की खबर भी सामने आई थी. 

इसी मसले पर सोमवार को संसद में सवाल पूछा गया था कि लॉकडाउन के दौरान हजारों मजदूरों की मौत हुई है, क्या सरकार के पास कोई आधिकारिक आंकड़ा है. इसपर सरकार की ओर से जवाब दिया गया कि उनके पास ऐसा कोई आंकड़ा नहीं है. सरकार की ओर से ये भी जवाब दिया गया कि लॉकडाउन में करीब 80 करोड़ लोगों को अतिरिक्त राशन दिया गया है, ये प्रक्रिया नवंबर तक जारी रहेगी.
 
आपको बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी इन दिनों भारत से बाहर हैं. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अपना सालाना मेडिकल चेकअप करवाने के लिए विदेश में हैं, जहां राहुल गांधी उनके साथ हैं. हालांकि, राहुल सोशल मीडिया के जरिए लगातार सरकार को घेर रहे हैं.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें