scorecardresearch
 

संयुक्त राष्ट्र महासभा में बोले पीएम मोदी- जब भारत का विकास होता है, तब दुनिया बदलती है

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा कि पिछले डेढ़ वर्ष से पूरा विश्व, 100 साल में आई सबसे बड़ी महामारी का सामना कर रहा है. ऐसी भयंकर महामारी में जीवन गंवाने वाले सभी लोगों को मैं श्रद्धांजली देता हूं और परिवारों के साथ अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं.

संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो-ट्विटर) संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो-ट्विटर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'विकास, सर्वसमावेशी हो, सर्व-पोषक हो, सर्व-स्पर्शी हो, सर्व-व्यापी हो'
  • 'वैश्विक अर्थव्यवस्था को अब और अधिक विविधतापूर्ण होना चाहिए'
  • हमारी विविधता, हमारे सशक्त लोकतंत्र की पहचानः पीएम मोदी

संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 76वें सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब भारत का विकास होता है, तब दुनिया बदलती है. है. जब भारत बढ़ता है तो दुनिया बढ़ती है. कोरोना महामारी को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी ने दुनिया को सिखाया है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था को अब और अधिक विविधतापूर्ण होना चाहिए.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मैं उस देश का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं जिसे mother of democracy का गौरव हासिल है. लोकतंत्र की हमारी हजारों वर्षों की महान परंपरा ने इस 15 अगस्त को भारत ने अपनी आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश में प्रवेश किया.' उन्होंने कहा कि हमारी विविधता, हमारे सशक्त लोकतंत्र की पहचान है. एक ऐसा देश जिसमें दर्जनों भाषाएं हैं, सैकड़ों बोलियां हैं, अलग-अलग रहन-सहन, खानपान हैं. ये वाइब्रेंट डेमोक्रेसी (Vibrant Democracy) का बेहतरीन उदाहरण है.

अफगानिस्तान पर क्या बोले पीएम मोदी?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में आतंकवाद के मुद्दे पर भी कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करना काफी जरूरी है कि अफगानिस्तान के क्षेत्र का इस्तेमाल आतंकवाद फैलाने और आतंकवादी गतिविधियों के लिए न हो. हमें इस बात के लिए भी सतर्क रहना होगा कि वहां की नाजुक स्थिति का कोई देश अपने स्वार्थ के लिए एक टूल के लिए इस्तेमाल करने की कोशिश न करे.

इसे भी क्लिक करें --- 'ये कभी मेरी कुर्सी थी...अब आप इसपर बैठिए'! जब PM नरेंद्र मोदी से बोले बाइडेन

उन्होंने कहा कि इस समय अफगानिस्तान के लोगों को मदद की जरूरत है, इसमें हमें अपना दायित्व निभाना ही होगा. उन्होंने यह भी कहा कि हमारे समंदर भी हमारी साझा विरासत हैं. इसलिए हमें ये ध्यान रखना होगा कि समुद्री संशाधनों का हम इस्तेमाल करें, दुरुपयोग नहीं. हमारे समंदर, अंतरराष्ट्रीय व्यापार की लाइफलाइन भी हैं. इन्हें हमें एक्सपेंशन और एक्सक्लूसन की दौड़ से बचाकर रखना होगा.

स्वच्छ पानी को हर लोगों के लिए मुहैया कराने का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि प्रदूषित पानी सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए एक बड़ी समस्या है. इस चुनौती का मुकाबला करने के लिए, हम पूरे भारत में 17 करोड़ से अधिक घरों को स्वच्छ, पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए एक बड़ा अभियान चला रहे हैं.

भारत सुधार करता है, तो दुनिया बदल जाती हैः पीएम मोदी

संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनिया का हर छठा व्यक्ति भारतीय है. जब भारतीयों की प्रगति होती है तो विश्व के विकास को भी गति मिलती है. जब भारत बढ़ता है तो दुनिया बढ़ती है. जब भारत सुधार करता है, तो दुनिया बदल जाती है. उन्होंने कहा कि विकास, सर्वसमावेशी हो, सर्व-पोषक हो, सर्व-स्पर्शी हो, सर्व-व्यापी हो, ये हमारी प्राथमिकता है.

उन्होंने कहा कि बीते 7 वर्षों में भारत में 43 करोड़ से ज्यादा लोगों को बैंकिंग व्यवस्था से जोड़ा गया है. 36 करोड़ से अधिक ऐसे लोगों को बीमा कवच मिला है जो पहले इस बारे में सोच भी नहीं सकते थे. 50 करोड़ से ज्यादा लोगों को मुफ्त इलाज का लाभ देकर उन्हें क्वालिटी हेल्थ से जोड़ा है.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा कि पिछले डेढ़ वर्ष से पूरा विश्व, 100 साल में आई सबसे बड़ी महामारी का सामना कर रहा है. ऐसी भयंकर महामारी में जीवन गंवाने वाले सभी लोगों को मैं श्रद्धांजलि देता हूं और परिवारों के साथ अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×