scorecardresearch
 

करतारपुर कॉरिडोर: पाकिस्तान की भारत से गुजारिश - फिर से खोला जाए रास्ता

कोरोना काल से बंद चल रहे करतारपुर कॉरिडोर को खोलने के लिए पाकिस्तान ने भारत से आग्रह किया है. पाकिस्तान ने मंगलवार को भारत से अपनी ओर से करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोलने और गुरु नानक देव के जन्मदिन के लिए सिख तीर्थयात्रियों को पवित्र स्थल पर जाने की अनुमति का आग्रह किया.

X
kartarpur corridor kartarpur corridor
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना काल से बंद था करतारपुर कॉरिडोर
  • 4 किमी लंबा है करतारपुर कॉरिडोर

पाकिस्तान ने मंगलवार को भारत से अपनी ओर से करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोलने और गुरु नानक देव के जन्मदिन के लिए सिख तीर्थयात्रियों को पवित्र स्थल पर जाने की अनुमति का आग्रह किया. विदेश कार्यालय के अनुसार, 9 नवंबर, 2019 को गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया गया था. लेकिन कॉरिडोर खुलने के कुछ ही महीनों बाद कोरोना वायरस महामारी ने दुनिया के साथ-साथ इस क्षेत्र को भी प्रभावित किया. 

ऐसे में कॉरिडोर के माध्यम से पाकिस्तान में तीर्थयात्रियों की आवाजाही मार्च 2020 से निलंबित कर दी गई. इसके बाद पड़ोसी देश ने इस साल अप्रैल में कोरोना मामलों में वृद्धि का हवाला देते हुए भारत से यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया था.

विदेश कार्यालय ने कहा, "भारत ने अभी तक अपनी तरफ से कॉरिडोर नहीं खोला है और न ही तीर्थयात्रियों को करतारपुर साहिब जाने की अनुमति दी है." पाकिस्तान ने कहा कि "हम भारत और दुनिया भर से आने वाले गुरु नानक देव के भक्तों के लिए 17-26 नवंबर के बीच मेजबानी करने के लिए उत्सुक हैं." पाक को उम्मीद है कि भारत सहयोग की भावना से तीर्थयात्रियों को करतारपुर साहिब जाने के लिए कॉरिडोर से यात्रा की अनुमति देगा.

बता दें कि 4 किमी लंबा करतारपुर कॉरिडोर भारतीय सिख तीर्थयात्रियों को गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने के लिए वीजा मुक्त पहुंच देता है. सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव 16 वीं शताब्दी की शुरुआत में इस गुरुद्वारे में रहते थे और यहीं उन्होंने देह त्यागी थी.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें