scorecardresearch
 

नागालैंड में बड़ा सियासी बदलाव, विपक्ष रहित सरकार का हुआ गठन

नागालैंड में शनिवार को महत्वपूर्ण सियासी घटनाक्रम हुआ. यहां पर विपक्ष रहित सरकार का गठन करने का फैसला किया गया है. सभी सत्तारूढ़ और विपक्षी दलों ने मिलकर एक सर्वदलीय सरकार बनाने का निर्णय किया, जिसे यूनाइटेड डेमोक्रेटिक अलायंस (यूडीए) कहा जाएगा.

नागालैंड में विपक्ष रहित सरकार का गठन नागालैंड में विपक्ष रहित सरकार का गठन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नागालैंड में विपक्ष रहित सरकार का गठन
  • यूनाइटेड डेमोक्रेटिक अलायंस कहा जाएगा

नागालैंड में शनिवार को महत्वपूर्ण सियासी घटनाक्रम हुआ. यहां पर विपक्ष रहित सरकार का गठन करने का फैसला किया गया है. सभी सत्तारूढ़ और विपक्षी दलों ने मिलकर एक सर्वदलीय सरकार बनाने का निर्णय किया, जिसे यूनाइटेड डेमोक्रेटिक अलायंस (यूडीए) कहा जाएगा.

कोहिमा के स्टेट बैंक्वेट हॉल में हुई एनडीपीपी, भाजपा, एनपीएफ व निर्दलीय विधायकों की बैठक में सत्तारूढ़ और विपक्षी दलों ने सर्वसम्मति से संयुक्त लोकतांत्रिक गठबंधन (यूडीए) के नाम से गठबंधन बनाने का निर्णय किया.

नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने ट्वीट किया, "नागालैंड में विपक्ष रहित सरकार के लिए यूनाइटेड डेमोक्रेटिक अलायंस (यूडीए) के नामकरण को एनडीपीपी, भाजपा एनपीएफ और निर्दलीय विधायकों ने सर्वसम्मति से चुना.''

बता दें कि एनडीपीपी और बीजेपी, जिन्होंने चुनाव पूर्व गठबंधन किया था, ने साल 2018 के विधानसभा चुनावों में बहुमत हासिल करने के बाद नागालैंड में सरकार बनाई थी.

60 सदस्यीय नागालैंड विधानसभा में एनडीपीपी के 20 विधायक, भाजपा के 12, एनपीएफ के 25 और दो निर्दलीय विधायक हैं. वहीं, नागालैंड विधानसभा में एनडीपीपी विधायक तोशी वुंगतुंग के निधन के बाद एक सीट खाली है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें