scorecardresearch
 

Narendra giri death: हस्ताक्षर तक नहीं कर पाते थे नरेंद्र गिरि, कैसे लिख सकते हैं इतना लंबा सुसाइड नोट? संत समिति का सवाल

Narendra giri death: अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के बाद सुसाइड नोट पर भी सवाल उठ रहे हैं. अखिल भारतीय संत समिति का कहना है कि नरेंद्र गिरि साइन तक नहीं कर पाते थे, तो इतना लंबा सुसाइड नोट कैसे लिख सकते हैं.

महंत नरेंद्र गिरि (फाइल फोटो) महंत नरेंद्र गिरि (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत
  • कमरे से सुसाइड नोट मिला था, वह सवालों के घेरे में

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (narendra giri maharaj) की संदिग्ध मौत के बाद तरह-तरह के सवाल उठ रहे हैं. एक सवाल उस सुसाइड नोट पर भी है जो नरेंद्र गिरि के कमरे से मिला था, जिसके आधार पर आनंद गिरि समेत तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है.

संत समिति समेत आनंद गिरि ने भी यह सवाल उठाया कि महंत नरेंद्र गिरि सुसाइड नोट कैसे लिख सकते हैं. दावा किया गया था कि नरेंद्र गिरि हस्ताक्षर तक नहीं कर सकते तो फिर इतना लंबा सुसाइड नोट कैसे लिख सकते हैं?

अखिल भारतीय संत समिति ने उठाए सुसाइड नोट पर सवाल

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की मौत पर अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती ने गंभीर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा है कि नरेंद्र गिरि कभी आत्महत्या नहीं कर सकते और जहां तक सुसाइड नोट की बात है तो वह अपना हस्ताक्षर ही ठीक से नहीं कर पाते थे तो आखिर इतना लंबा सुसाइड नोट कैसे लिख सकते हैं? उन्होंने यह भी कहा जो व्यक्ति सुसाइड करेगा वह 2 दिन पहले दान में एक बड़ी बिल्डिंग को स्वीकार करेगा? ऐसे में इसके पीछे साजिश की बू आ रही है. उन्होंने प्रदेश सरकार से इसकी उच्च स्तरीय जांच की मांग की.

दूसरी तरफ नरेंद्र गिरि के साथ दिन-रात साए की तरह रहने वाले शिष्य निर्भय द्विवेदी ने आज तक पर बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि नरेंद्र गिरि थोड़ा बहुत लिख पाते थे. उन्होंने यह तक कहा कि शायद नरेंद्र गिरि जानते थे कि उनकी मृत्यु के बाद सुसाइड नोट पर सवाल उठ सकते हैं, इसलिए उन्होंने कथित सुसाइड से पहले एक वीडियो भी रिकॉर्ड किया था. शिष्य के मुताबिक, वह वीडियो भी पुलिस ने जब्त किया है. वीडियो में क्या है? इस सवाल पर शिष्य ने कहा कि उसमें वही सब बातें हो सकती हैं जो कि सुसाइड नोट में लिखी थीं.

शिष्य बोला- लिख सकते थे नरेंद्र गिरि

आजतक से बातचीत में नरेंद्र गिरि के शिष्य निर्भय द्विवेदी ने इस बात को नकारा कि नरेंद्र गिरि लिख नहीं सकते थे. उन्होंने कहा कि महाराज बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा करते थे. निर्भय बोले, 'लाइनें टूटी-फूटी जरूर होती थी लेकिन वह लिख लेते थे.' क्या शिष्य ने सुसाइड नोट देखा? इस सवाल पर निर्भय ने कहा कि उन्होंने बस यह देखा कि एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, उसमें क्या लिखा है यह नहीं देखा क्योंकि वह लिफाफे में बंद था, जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें