scorecardresearch
 

तो 1 महीने में भर जाएंगे HC के 90% पद....SC में जजों की नियुक्ति पर CJI का पीएम को धन्यवाद

BCI चेयरमैन मनन मिश्रा ने कहा, आप सबसे ज्यादा बार फ्रेंडली जज हैं. हमें आशा है कि आप हाईकोर्ट को सीधे सुनवाई करने का आदेश देंगे. सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो चुकी है. कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं और ऐसे में हम इस बात को नजरअंदाज नहीं कर सकते कि तीसरी लहर आ सकती है.

सीजेआई एनवी रमणा (फाइल फोटो) सीजेआई एनवी रमणा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मिश्रा ने कहा- 9 जजों की नियुक्ति एक अद्भुत उपलब्धि
  • बीसीआई अध्यक्ष ने कहा- वर्चुअल सुनवाई के चलते आम वकील आर्थिक रूप से संकट में

चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना ने शनिवार को बार काउंसिल ऑफ इंडिया (Bar Council of India) के कार्यक्रम में शिरकत की. यह कार्यक्रम चीफ जस्टिस के सम्मान में रखा गया था. इस दौरान चीफ जस्टिस ने सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों के नामों को मंजूरी देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कानून मंत्री किरेन रिजिजू का आभार जताया. उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि इसी स्पीड से उन्होंने हाईकोर्ट के जजों के नामों को मंजूर किया तो खाली पदों में 90% पद एक महीने के भीतर ही भर जाएंगे. 

इस दौरान सीजेआई रमन्ना ने कहा,  इस बैठक से पहले आते समय मैंने बीसीआई द्वारा आयोजित विशाल लंच देखा. मुझे समझ में नहीं आया कि दोपहर का भोजन क्यों? अब मैं समझा.

आपके स्नेह ने मेरे काम को गंभीर बना दिया- चीफ जस्टिस
उन्होंने कहा, इस जबरदस्त स्वागत को देखने के बाद आप सभी के स्नेह ने मेरे काम को और भी गंभीर बना दिया है. आप सभी की भावनाओं और प्रेम स्नेह से काफी प्रभावित हुआ हूं. महामारी के बावजूद देश भर से लोग आए. यह मुझे मेरी जिम्मेदारियों की याद दिलाता है. यह सम्मान से बहुत अधिक है. यह मुझे CJI के रूप में मेरी जिम्मेदारियों की याद दिला रहा है. 

'अदालतों में उपलब्ध सुविधाओं पर जल्द मिलेगी रिपोर्ट'
चीफ जस्टिस ने कहा, देश भर की अदालतों में ढांचागत सुविधाओं की बाबत विस्तृत रिपोर्ट अगले हफ्ते कानून मंत्रालय को सौप दी जाएगी. जिला और सत्र न्यायालयों को और सक्षम बनाने के मकसद से तैयार की गई, विशेषज्ञों की रिपोर्ट में सुझाए गए उपाय काफी कारगर होंगे. 

चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना ने सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम के सदस्य साथी जजों की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी सक्रियता और सकारतमकता के लिए हार्दिक धन्यवाद. क्योंकि सबके सहयोग से ही हम तेजी से विभिन्न उच्च अदालतों में बड़ी तादाद में खाली हुए जजों के पदों पर नियुक्ति की ओर बढ़ रहे हैं. उन्होंने कहा, कानून मंत्री यहां मौजूद हैं, मुझे उम्मीद है कि हमारी सिफारिश वाले सभी 82 नामों को वैसे ही एकमुश्त क्लियरेंस मिल जाएगा, जैसे सुप्रीम कोर्ट में जजों की नियुक्ति के लिए भेजी गई सिफारिशों को मिला था. 

बार काउंसिल के चेयरमैन ने की सीजेआई की तारीफ 
बार काउंसिल के चेयरमैन मनन मिश्रा ने चीफ जस्टिस रमन्ना के फैसलों की तारीफ की. उन्होंने कहा, लॉकडाउन में लीगल प्रोफेशन काफी प्रभावित हुआ है. उन्होंने कहा, इस पेशे पर अमीर और विशेषाधिकार प्राप्त लोगों ने कब्जा कर लिया है. वहीं, वर्चुअल सुनवाई के चलते आम वकील आर्थिक रूप से संकट में हैं. उन्होंने कहा, वे खुश है कि चीफ जस्टिस ने केंद्र को पत्र लिखकर वकीलों की मदद करने के लिए कहा है. 
 
मनन मिश्रा ने कहा, आप सबसे ज्यादा बार फ्रेंडली जज हैं. हमें आशा है कि आप हाईकोर्ट को सीधे सुनवाई करने का आदेश देंगे. सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो चुकी है. कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं और ऐसे में हम इस बात को नजरअंदाज नहीं कर सकते कि तीसरी लहर आ सकती है. 

9 जजों की नियुक्ति अद्भुत उपलब्धि
मिश्रा ने कहा, सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में एक बार में 9 जजों की नियुक्ति एक अद्भुत उपलब्धि है. बार के योग्य सदस्यों का सुप्रीम कोर्ट के लिए चुनना काबिले तारीफ है. उन्होंने कहा, हमें जानकारी हुई है कि एससी कॉलेजियम द्वारा 68 नामों को मंजूरी दी गई है. 

बार को कुछ समस्याएं
बार काउंसिल के अध्यक्ष ने कहा, सरकार कोर्ट और जजों के लिए तो बिल्डिंग्स का निर्माण करा रही है. लेकिन वकीलों के लिए कुछ नहीं किया जा रहा. सरकार को लगता है कि वकील खुले आसमान के नीचे बैठ सकते हैं. वकीलों के पास कोई सामाजिक सुरक्षा नहीं है, कोई बीमा नहीं है. अगर किसी युवा वकील की अचानक मौत हो जाती है तो उसका परिवार सड़क पर आ जाता है. महामारी के दौरान हजारों लोगों की मौत हुई है. 

मनन मिश्रा ने कहा, बीसीआई की कानूनी शिक्षा की उन्नति के लिए सलाहकार बोर्ड की अध्यक्षता सीजेआई करते हैं. बीसीआई कानूनी शिक्षा में सुधार के लिए हर संभव प्रयास करेगा. हम ग्रामीण इलाकों में कॉलेजों को बेहतर बनाने का प्रयास कर रहे हैं. 

जस्टिस विनीत सरन ने भी की तारीफ
कार्यक्रम के दौरान जस्टिस विनीत सरन ने कहा, सीजेआई स्कूल खोलने के लिए 12वीं क्लास के एक बच्चे की याचिका पर सुनवाई करने के लिए तैयार हो गए. ये दिखाता है कि चीफ जस्टिस सभी को सुनते हैं. 
 
पहली बार देखकर लगा था लोग उनपर भरोसा कर सकते हैं- किरेन रिजिजू 
वहीं, कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा,  मुझे किसी ऐसे व्यक्ति का सम्मान करने का सौभाग्य मिला है जो सत्यनिष्ठ है और न्यायपालिका में एक नया सवेरा लाने के लिए तैयार है. मैं न्यायपालिका में नया हूं. मुझे इस क्षेत्र में कोई विशेष अनुभव नहीं है. लेकिन मैं सब कुछ ध्यान और मेहनत के साथ करने की कोशिश करता हूं. 

उन्होंने बताया कि जब मैं पहली बार सीजेआई से मिला था, तो उन्हें नहीं जानता था. लेकिन उनके बारे में अपने दोस्तों से काफी सुना था. जब मैं उनसे मिला तो मुझे अहसास हो गया था कि देश के लोग उन पर भरोसा जता सकते हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×