scorecardresearch
 

अपनों ने दिया जख्म, शिकायत पर पुलिस ने भी दी गाली... आखिर खत्म कर ली अपनी जिंदगी

केरल की लॉ स्टूडेंट मोफिया परवीन नाम की महिला ने आत्महत्या कर ली. महिला ने सुसाइड नोट में अपने पति सुहेल, उसके माता-पिता और अलुवा स्टेशन के एसएचओ सुधीर को उसकी मौत का कारण बताया है. आरोप है कि महिला जब अपने पिता के साथ ससुराल वालों की शिकायत के लिए एसएचओ सुधीर के पास गई, तो उन्होंने उनके साथ गाली गलौच कर उन्हें भगा दिया था.

Sohail and Mofia Parveen Sohail and Mofia Parveen
स्टोरी हाइलाइट्स
  • केरल की लॉ स्टूडेंट ने की आत्महत्या
  • थाना एसएचओ पर लगाए गंभीर आरोप

केरल के अलुवा में 21 वर्षीय लॉ स्टूडेंट मोफिया परवीन नाम की महिला ने आत्महत्या कर ली. महिला ने सुसाइड नोट में अपने पति सुहेल, उसके माता-पिता और अलुवा स्टेशन के एसएचओ सुधीर को उसकी मौत का कारण बताया है. आरोप है कि महिला जब अपने पिता के साथ ससुराल वालों की शिकायत के लिए एसएचओ सुधीर के पास गई को उन्होंने उनके साथ गालीगलौच कर उन्हें भगा दिया था.

ऐसे में एसएचओ के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर कांग्रेस नेताओं ने अलुवा एसएचओ कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया. पहले मामले में एसएचओ का तबादला कर दिया गया था लेकिन अब उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है. एसपी की जांच रिपोर्ट से पता चला है कि उसने मोफिया की शिकायत पर मामला दर्ज करने से इंकार कर दिया था.

इधर, राज्य में उद्योग मंत्री पी राजीव ने बताया कि मामले में मुख्यमंत्री ने एसएचओ सुधीर के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया है. उन्होंने मोफिया के माता - पिता से फोन पर बात कर उन्हें ये आश्वासन दिया. मोफिया के पिता ने कहा कि वे सीएम को फोन के बाद से राहत महसूस कर रहे हैं.

हालांकि, एसएचओ सुधीर ने दावा किया कि उसने मोफिया के साथ कोई दुर्व्यवहार नहीं किया था. इधर, सुधीर के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन चल रहा था और कार्रवाई की मांग के कर रहे अल अजहर कॉलेज के मोफिया के साथियों को हिरासत में ले लिया गया था.

मामला सामने आने के बाद से मोफिया के ससुराल वालों और पति को गिरफ्तार कर लिया गया है. मोफिया की मौत के बाद ये लोग एक रिश्तेदार के घर जा छुपे थे, जहां से पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया. इन लोगों को खिलाफ आईपीसी की धारा 304 बी (दहेज हत्या), 498 ए (महिलाओं पर अत्याचार) और 306 (आत्महत्या के लिए उत्तेजित करना) के तहत मामले दर्ज किए गए हैं.

इनपुट- रिक्सन


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×