scorecardresearch
 

कोरोना के खिलाफ राहतभरी खबर, मॉडर्ना वैक्सीन के इम्पोर्ट को मिली मंजूरी

दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronvirus) के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान (Vaccination) जारी है. भारत में भी अब तक 40 करोड़ से अधिक वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं. इस बीच, एक राहतभरी खबर सामने आई है. मॉडर्ना को भारत में वैक्सीन इम्पोर्ट की अनुमति मिल गई है. 

Moderna Vaccine Moderna Vaccine
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना के खिलाफ जारी है टीकाकरण अभियान
  • मॉडर्ना की कोविड वैक्सीन को मिली इम्पोर्ट की अनुमति
  • कोविशील्ड, कोवैक्सीन और स्पूतनिक से हो रहा टीकाकरण

दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronvirus) के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान (Vaccination) जारी है. भारत में भी अब तक 40 करोड़ से अधिक वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं. हालांकि, अब भी कई जगह वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध नहीं है, जिसके चलते लोगों को वैक्सीनेशन सेंटर से कई बार वापस तक लौटना पड़ रहा है. इस बीच, एक राहतभरी खबर सामने आई है. मॉडर्ना को भारत में वैक्सीन इम्पोर्ट की अनुमति मिल गई है. 

जानकारी के अनुसार,  मॉडर्ना को यह अनुमति इमरजेंसी हालात में प्रतिबंधित इस्तेमाल के लिए मिली है. कोरोना के खिलाफ इस्तेमाल की जाने वाली मॉडर्ना की यह वैक्सीन दो डोज वाली वैक्सीन है. इसे 18 साल या फिर उससे अधिक उम्र वाले लोगों को लगाया जा सकेगा.

पिछले कई महीनों से मॉडर्ना वैक्सीन पश्चिमी देशों में लोगों को लगाई जा रही है. यह कोरोना महामारी को रोकने में काफी कामयाब भी रही. अब भारत में इस वैक्सीन के आने की उम्मीद लगाई जा रही है. इन दिनों भारत में तीन टीके हैं, जिनका टीकाकरण में इस्तेमाल हो रहा है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) की कोविशील्ड, भारत बायोटेक की को-वैक्सीन और रूस की स्पूतनिक-वी से टीकाकरण हो रहा है.     

वहीं, देश में कोरोना की स्थिति के बारे में बात करें तो पिछले 24 घंटों में 44,230 नए मामले सामने आए हैं. इसके बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,15,72,344 हो गई. वहीं, 555 और लोगों की मौत के बाद मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 4,23,217 हो गया है. इसके अलावा देश में अभी 4,05,155 लोगों का कोविड संक्रमण का इलाज चल रहा है. यह कुल मामलों का 1.28 फीसदी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें