scorecardresearch
 

मैं हाथ जोड़कर जान की भीख मांगती रही और वो पति को गोदते रहे चाकू... हैदराबाद में हैवानियत

पीड़ित नागराज ने दो महीने पहले एक मुस्लिम महिला सैयद सुल्ताना से शादी की थी. युवक के एक रिश्तेदार ने आरोप लगाते हुए कहा कि, चूंकि दोनों अलग-अलग धर्मों के थे, इसलिए लड़की के परिवार ने नागराज की हत्या कर दी.

X
फाइल फोटो फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुलिस की गिरफ्त में आए दो आरोपी
  • लव मैरिज को लेकर की हत्या

हैदराबाद के सरूरनगर में बुधवार, 4 मई को एक बाइक सवार ने एक व्यक्ति की चाकू मारकर हत्या कर दी. पुलिस का कहना है कि कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है और वे सभी लड़की के परिवार के हैं.

सरूरनगर में बुधवार रात करीब नौ बजे बाइक पर सवार अज्ञात व्यक्तियों ने नागराज (25) की चाकू मारकर हत्या कर दी. हमलावर मौके से फरार हो गए. कई राहगीरों ने इस घटना को अपने फोन में रिकॉर्ड कर लिया और कुछ ने शव की तस्वीरें भी खींच लीं. यहां देखिए घटना का सीसीटीवी फुटेज...

 

नागराज के रिश्तेदारों के विरोध प्रदर्शन और हत्या के पीछे उसकी पत्नी के परिवार का हाथ होने का आरोप लगाने के बाद इस घटना ने इलाके में तनाव पैदा कर दिया. नागराज ने 23 वर्षीय सुल्ताना (उर्फ पल्लवी) से दो महीने पहले 31 जनवरी को शादी की थी. 

सरूरनगर पुलिस ने हत्या में शामिल होने के आरोप में सुल्ताना के भाई सैयद मोबिन अहमद और मोहम्मद मसूद अहमद को गिरफ्तार किया है. सुल्ताना ने घटना को बयान करते हुए कहा कि मैं, हत्यारों से अपने पति की जान की भीख मांगती रही. लेकिन उन्होंने मेरे पति को चाकुओं से गोद दिया. मेरी आंखों के सामने मेरे पति की हत्या कर दी. 
 

आरोपी सैयद मोबिन अहमद और मोहम्मद मसूद अहमद

मामले को लेकर नागराज के एक रिश्तेदार ने आरोप लगाते हुए कहा है कि वो दोनों (सुल्ताना और नागराज) अपने कॉलेज के दिनों से एक दूसरे के साथ प्यार में थे. दोनों ने दो महीने पहले पुराने शहर के आर्य समाज मंदिर में शादी की थी. दोनों ही अलग-अलग धर्मों के थे, इसलिए लड़की के परिवार ने नागराज की हत्या कर दी. 

पुलिस के अनुसार, नागराज ने आरोपी की बहन से शादी की थी. ऐसे में गैर धर्म का होने के चलते सुल्ताना के भाई ने नागराज की हत्या की साजिश रची और फिर  बुधवार को उसको लोहे की रॉड से अंधाधुंध पीटा साथ ही चाकू से वार कर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी.

जानकारी के अनुसार एक महीने पहले, सुल्ताना के भाई ने नागराजू का पता लगाने की कोशिश की, लेकिन कुछ पता नहीं चला. 4 मई को आरोपियों ने नागराज का पीछा किया और पंजाला अनिल कुमार कॉलोनी, सरूरनगर में रेड लाइट पर नागराज को रोक लिया. जिसके बाद आरोपियों ने नागराज को लोहे की रॉड और चाकू से हत्या कर दी.

नागराज सिकंदराबाद के मररेडपल्ली का रहने वाला था और वह पुराने शहर के मलकपेट में एक कार शोरूम में सेल्समैन का काम करता था. मामले को लेकर सहायक पुलिस आयुक्त श्रीधर रेड्डी ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि हत्या के पीछे उनका प्रेम विवाह कारण था. एसीपी ने कहा कि हम आगे की जांच कर रहे हैं. 

 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें