scorecardresearch
 

लखनऊः मशहूर शायर मुनव्वर राणा की एक और बेटी कांग्रेस में शामिल

कोरोना संकट से पहले नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन की वजह से उरुशा राणा चर्चा में आई थीं. उन्होंने इन कानूनों के खिलाफ सुममिया राणा के साथ लखनऊ के घंटाघर पर जमकर विरोध प्रदर्शन किया था.

उरुशा राणा आज कांग्रेस में शामिल हो गईं (फोटो-आशीष) उरुशा राणा आज कांग्रेस में शामिल हो गईं (फोटो-आशीष)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुनव्वर राणा की दूसरी बेटी उरुशा भी कांग्रेस में
  • 2 अक्टूबर को फौजिया कांग्रेस में हुई थीं शामिल
  • पार्टी की महिला समिति की उपाध्यक्ष बनाई गईं उरुशा

मशहूर शायर मुनव्वर राणा की दूसरी बेटी भी उरुशा राणा कांग्रेस में शामिल हो गई हैं. उरुशा राणा को पार्टी की महिला समिति का उपाध्यक्ष बनाया गया है. इससे पहले मुनव्वर राणा की एक और बेटी फौजिया राणा भी कांग्रेस में शामिल हो चुकी हैं.

महिला समिति की अध्यक्ष ममता चौधरी ने उरुशा राणा को पदभार ग्रहण करवाया. कांग्रेस मुख्यालय में वह अपने महिला कार्यकर्ताओं के साथ मौजूद रहीं. इस दौरान उन्होंने कहा कि महिलाओं के सम्मान के लिए पहले खुद के घर से शुरुआत करनी होगी. फिर समाज में महिलाओं के लिए लड़ाई लड़ती रहूंगी.

महिला समिति की उपाध्यक्ष बनीं उरुशा राणा
महिला समिति की उपाध्यक्ष बनीं उरुशा राणा

कोरोना संकट से पहले नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन की वजह से उरुशा राणा चर्चा में आई थीं. उन्होंने इन कानूनों के खिलाफ सुममिया राणा के साथ लखनऊ के घंटाघर पर जमकर विरोध प्रदर्शन किया था.

देखें: आजतक LIVE TV 

मुनव्वर राणा की बेटी फौजिया राणा भी 2 अक्टूबर को कांग्रेस में शामिल हो चुकी हैं. उन्होंने पटना में कांग्रेस की सदस्यता हासिल की थी. तब फौजिया ने चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा था कि अगर पार्टी उन्हें निर्देश देगी तो वो चुनाव मैदान में उतरेंगी. 

फौजिया राणा भी सीएए-एनआरसी के खिलाफ हुए प्रदर्शन के दौरान चर्चा में आई थीं. वो दिल्ली के शाहीन बाग भी पहुंची थीं. फौजिया ने लखनऊ में भी धरना दिया था. उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. तब फौजिया ने कहा था कि हमने लखनऊ में धरना दिया, आवाज उठाने पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने हम पर एफआईआर की, साथ ही 4-4 धाराएं लगाईं. तंज कसते हुए फौजिया ने उत्तर प्रदेश सरकार को इसके लिए शुक्रिया भी कहा था.

 
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें