scorecardresearch
 

Lata Mangeshkar death: लता मंगेशकर के निधन पर दो दिन का राष्ट्रीय शोक, शिवाजी पार्क में आज शाम होगा अंतिम संस्कार

लता मंगेशकर का पार्थिव शरीर आज उनके पेडार रोड स्थित आवास प्रभु कुंज में दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक रखा जाएगा. इसके बाद उन्हें 4.30 बजे शिवाजी पार्क लाया जाएगा. शिवाजी पार्क में आज शाम उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा.

X
लता मंगेशकर ने मुंबई में आज अंतिम सांस ली. लता मंगेशकर ने मुंबई में आज अंतिम सांस ली.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 92 साल की उम्र में लता मंगेशकर का निधन
  • ब्रीच कैंडी अस्पताल में ली अंतिम सांस

स्वर कोकिला और भारत रत्न लता मंगेशकर (92) का रविवार को निधन हो गया. लता मंगेशकर 28 दिन पहले कोरोना संक्रमित पाई गई थीं. इसके बाद उन्हें ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां उन्होंने अंतिम सांस ली. केंद्र सरकार ने लता मंगेशकर के निधन पर 2 दिन का राष्ट्रीय शोक रखा है. लता मंगेशकर का अंतिम संस्कार आज शिवाजी पार्क में होगा. 

लता मंगेशकर का पार्थिव शरीर आज उनके पेडार रोड स्थित आवास प्रभु कुंज में दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक रखा जाएगा. इसके बाद उन्हें 4.30 बजे शिवाजी पार्क लाया जाएगा. पीएम मोदी अंतिम दर्शन के लिए मुंबई पहुचेंगे. शिवाजी पार्क में आज शाम 6.30 बजे उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा. 

2 दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा

केंद्र सरकार ने लता मंगेशकर के निधन पर 2 दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया है. उन्हें सम्मान देने के लिए राष्ट्रीय ध्वज दो दिनों तक आधा झुका रहेगा. 

लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि दें

राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने जताया दुख

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लता मंगेशकर के निधन पर शोक जताया, उन्होंने ट्वीट किया, लता जी का निधन मेरे लिए हृदयविदारक है, जैसा कि दुनिया भर के लाखों लोगों के लिए है. उनके गीतों की विशाल श्रृंखला में, भारत के सार और सुंदरता को प्रस्तुत करते हुए, पीढ़ियों ने अपनी आंतरिक भावनाओं की अभिव्यक्ति पाई. उनकी उपलब्धियां अतुलनीय रहेंगी. 

पीएम मोदी बोले- मेरी पीड़ा शब्दों से परे

पीएम मोदी ने कहा, मेरी पीड़ा शब्दों से परे है. दयालु और देखभाल करने वाली लता दीदी हमें छोड़कर चली गईं. वे हमारे देश में एक खालीपन छोड़ गई है, जिसे भरा नहीं जा सकता. आने वाली पीढ़ियां उन्हें भारतीय संस्कृति के एक दिग्गज के रूप में याद रखेंगी. 

पीएम ने कहा, पीएम ने कहा, लता दीदी के गानों ने कई तरह के इमोशन्स को उभारा. उन्होंने दशकों तक भारतीय फिल्म जगत के बदलावों को करीब से देखा. फिल्मों से परे, वह हमेशा भारत के विकास के बारे में भावुक थीं. वह हमेशा एक मजबूत और विकसित भारत देखना चाहती थी. 

उन्होंने कहा, मैं इसे अपना सम्मान मानता हूं कि मुझे हमेशा लता दीदी से अपार स्नेह मिला है. उनके साथ मेरी बातचीत अविस्मरणीय रहेगी. लता दीदी के निधन पर मुझे अपने साथी भारतीयों के साथ शोक है. उनके परिवार से बात की और संवेदना व्यक्त की. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें