scorecardresearch
 

कौन हैं अफगान प्रोजेक्ट में काम कर रहे दो भारतीय, जिन्हें बैन कराने UNSC पहुंचा PAK

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र की 1267 अल कायदा प्रतिबंध समिति के तहत प्रतिबंधित सूची में शामिल करने के लिए अंगारा अप्पाजी, गोबिंद पटनायक, अजय मिस्री और वेणुमाधव डोंगारा का नाम दिया था.

X
UNSC ने पाकिस्तान को दिया झटका (फाइल फोटो)
UNSC ने पाकिस्तान को दिया झटका (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दो भारतीयों को आतंकी घोषित करने की मांग की थी
  • पाकिस्तान ने UNSC के सामने रखा था यह प्रस्ताव
  • पांच देशों ने पाक के प्रस्ताव को नामंजूर किया

भारत ने पाकिस्तान की एक बड़ी चाल को नाकाम करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के पांच सदस्यों का धन्यवाद किया है. दरअसल UNSC ने बुधवार को इमरान सरकार के उस प्रस्ताव को नकार दिया, जिसमें भारत के दो नागरिकों को आतंकी घोषित करने की मांग की गई थी. हालांकि अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और बेल्जियम- इन पांच देशों ने एक सुर में आवाज उठाई और कहा कि पाकिस्तान बिना किसी ठोस सबूत के भारत के खिलाफ मामला उठा रहा है.

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र की 1267 अल कायदा प्रतिबंध समिति के तहत प्रतिबंधित सूची में शामिल करने के लिए अंगारा अप्पाजी, गोबिंद पटनायक, अजय मिस्री और वेणुमाधव डोंगारा का नाम दिया था. बहरहाल, परिषद में अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और बेल्जियम ने इस कदम को अवरुद्ध कर दिया, जिससे पाकिस्तान की यह कोशिश नाकाम हो गई.

जिसके बाद भारत ने अपना बयान जारी करते हुए कहा कि आतंकवाद को लेकर संयुक्त राष्ट्र की प्रक्रिया का राजनीतिकरण करने की इस्लामाबाद की कोशिश नाकाम हो गई. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि राजदूत टी एस तिरूमूर्ति ने बुधवार को ट्वीट किया, 'आतंकवाद पर 1267 विशेष प्रक्रिया को धार्मिक रंग देकर इसका राजनीतिकरण करने की पाकिस्तान की कोशिश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में नाकाम हो गई. हम परिषद के उन सभी सदस्यों का आभार व्यक्त करते हैं जिन्होंने पाकिस्तान के इस प्रयास को अवरुद्ध किया है.'

पाकिस्तान ने दो भारतीय नागरिकों को आतंकी घोषित करने की अपील की थी. अप्पाजी अंगारा जो आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं, जबकि गोबिंद पटनायक दुग्गीवालसा ओडिशा के. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक अप्पाजी अंगारा, आंध्र प्रदेश का रहने वाले हैं. वह जनवरी महीने में काबुल से बाहर लाए गए थे, तब वो अफगानिस्तान के एक बैंक में सॉफ्टवेयर डेवलपर के तौर पर काम कर रहे थे. पाकिस्तान ने अंगारा पर 13 फरवरी 2017 को लाहौर स्थित माल रोड के एक मॉल पर आतंकी हमले का आरोप लगाया है. 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ओडिशा में जन्मे गोविंद पटनायक दुग्गीवालसा की उम्र 55 साल के करीब है. वह अफगानिस्तान के काबुल में फीनिक्स कंसल्टिंग सर्विसेज के अध्यक्ष के रूप में काम करते थे. दुग्गीवालसा पर साल 2018 में बलूचिस्तान के मस्तुंग में पाकिस्तानी राजनेता सिराज रायसानी पर आतंकवादी हमले का आरोप लगा था. 

सूत्रों ने इंडिया टुडे को बताया कि पाकिस्तान ने 4 भारतीय नागरिकों को इस सूची में डालने की कोशिश की है. इसी साल जून में पाकिस्तान ने भारतीय नागरिक वेणुमाधव डोंगरा और अजय मिस्त्री का नाम भी इस लिस्ट में डालने की कोशिश की थी जिसे अमेरिका ने रोक दिया था. सूत्रों ने बताया कि इस साल भी पाकिस्तान ऐसा कोई सबूत पेश नहीं कर पाया जिससे कि भारतीय नागरिकों के खिलाफ आरोप तय हो सकें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें