scorecardresearch
 

Kartarpur corridor: आज से खुल रहा है करतारपुर कॉरिडोर, श्रद्धालुओं को इन नियमों का करना होगा पालन

Gurdwara Darbar Sahib in Kartarpur: करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Sahib Corridor ) से एक दिन में 100-200 श्रद्धालु हर दिन यात्रा करेंगे.

X
Kartarpur Sahib Corridor Opening Today Kartarpur Sahib Corridor Opening Today
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 100-200 श्रद्धालु जा सकेंगे हर दिन
  • पाकिस्‍तान में होगी एंटीजन जांच
  • वैक्‍सीन की दोनों डोज लगी होना जरूरी

Kartarpur Sahib Corridor Opening Today: करतारपुर कॉरिडोर आज से खुलने जा रहा है. श्रद्धालु अब करतारपुर साहिब गुरुद्वारा (Gurdwara Darbar Sahib in Kartarpur, Pakistan) के एक बार फिर दर्शन कर सकेंगे. लेकिन यहां जाने के लिए कोविड प्रोटोकॉल (Kartarpur Sahib Corridor COVID Protocols) का पालन करना होगा.

उन लोगों को ही पाकिस्‍तान में जाने की अनुमति मिलेगी, जिनको वैक्‍सीन की दोनों डोज लग चुकी होंगी. जो भी श्रद्धालु पवित्र दर्शन के लिए जा रहे हैं, उनको अपने साथ आरटीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट ले जानी होगी. आरटीपीसीआर रिपोर्ट 72 घंटे से ज्‍यादा पुरानी न हो. 

दरअसल, इन दोनों ही चीजों के लिए पाकिस्‍तान ने भारत से अनुरोध किया था. जिसके बाद भारत की ओर से इस बात पर सहमति जताई गई थी. यानी कुल मिलाकर ये साफ है जो भी दरबार साहिब के दर्शन करने की सोच रहे हैं, उन्हें वैक्‍सीन की दोनों डोज लगी होना जरूरी है. 

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कॉरिडोर खोले जाने को लेकर ट्वीट किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करतारपुर साहिब कॉरिडोर को खोलने का फैसला किया है, इससे देश में उल्‍लास और खुशी बढ़ेगी. 

करतारपुर साहिब कॉरिडोर डेढ़ साल के बाद खुलने जा रहा है. कोरोना महामारी की वजह से कॉरिडोर को बंद कर दिया गया था. 16 मार्च 2020 से करतारपुर साहिब कॉरिडोर के लिए रजिस्‍ट्रेशन बंद थे. भारत के गृह मंत्रालय ने अब श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर को खोलने की अनुमति दी है. अब कोरोना के हालात भी पहले से बेहतर हुए हैं, रोजाना आने वाले कोरोना केस भी कम हुए हैं. 

पाकिस्‍तान में होगी एंटीजन जांच 
वहीं सूत्रों के हवाले से ये भी जानकारी सामने आई है कि एक बार जब श्रद्धालु पाकिस्‍तान की सीमा में दाखिल होंगे तो उनका रैपिड एंटीजन टेस्‍ट (Rapid Antigen Test ) भी वहां होगा. इसके अलावा कोई दूसरा टेस्‍ट पाकिस्‍तान में नहीं होगा. जो भी यात्री करतार साहिब जाएंगे, उनको उसी दिन शाम को वापसी करनी होगी. 

100-200 श्रद्धालु जाएंगे एक दिन में 
एक अनुमान है कि 100-200 श्रद्धालु हर दिन यात्रा करेंगे. वहीं गुरुनानक जयंती पर लोगों की संख्‍या ज्‍यादा होने का अनुमान है.

गृह मंत्रालय के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने इंडिया टुडे को बताया कि पाकिस्‍तान के सारे नियमों का पालन करना होगा. अगर किसी श्रद्धालु में कोविड के लक्षण हुए तो उन्‍हें आइसोलेशन में रखा जाएगा. जो भी श्रद्धालु यहां जाने की सोच रहे हैं, वे https://prakashpurb550.mha.gov.in/kpr/ पर जाकर अपना रजिस्‍ट्रेशन जरूर करवा लें. 

Gurdwara Darbar Sahib
Gurdwara Darbar Sahib

गुरुद्वारा दरबार साहिब के हो सकेंगे दर्शन
करतापुर कॉरिडोर करीब साढ़े चार किलोमीटर का है. इस कॉरिडोर के बनने से भारत में डेरा बाबा नानक और पाकिस्‍तान में मौजूद गुरुद्वारा दरबार साहिब सीधे जुड़ गए हैं. नवम्‍बर 2019 में इस कॉरिडोर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था.  पाकिस्‍तान में यहां जाने के लिए वीजा की जरूरत नहीं पड़ती है.

पंजाब में अगले साल होने हैं चुनाव 
पंजाब में अगले साल चुनाव होने हैं. ऐसे में राजनैतिक पार्टियां भी एक दूसरे से पीछे नहीं रहना चाह रही हैं. पंजाब के मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने कहा कि उनकी कैबिनेट पहले जत्‍थे के रूप में जाएगी. चन्‍नी ने कहा, ' मैं प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से मिला था और उनसे कॉरिडोर खोलने का अनुरोध किया था, उन्‍होंने मेरी बात मान ली है, मैं उनको धन्‍यवाद कहना चाहता हूं'.

पंजाब कैबिनेट 18 नवम्‍बर को जाएगी. वहीं पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने भी इस कदम का स्‍वागत किया है. शिरोमणी अकाली दल की नेता हरसिमरत बादल ने भी ट्वीट किया, उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'गुरुनानक देव हमें आशीर्वाद दें, अब एक बार फिर से करतारपुर साहिब कॉरिडोर खुलने जा रहा है. इससे पहले पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी 9 नवम्‍बर को करतारपुर साहिब कॉरिडोर की दूसरी वर्षगांठ पर ट्वीट किया था. 

 ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें