scorecardresearch
 

अब कर्नाटक के मेडिकल कॉलेज में फूटा 'कोरोना बम', 66 छात्र निकले पॉजिटिव, दो हॉस्टल सील

कर्नाटक के SDM मेडिकल कॉलेज में 66 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इतने सारे छात्रों का कोरोना का शिकार होना प्रशासन को चिंता में डाल गया है. प्रशासन ने तुरंत एक्शन लेते हुए कॉलेज बिल्डिंग के दो हॉस्टल सील कर दिए हैं. इस कॉलेज में कुल 400 छात्र पढ़ाई कर रहे हैं.

कर्नाटक के मेडिकल कॉलेज में 66 कोरोना पॉजिटिव ( सांकेतिक फोटो) कर्नाटक के मेडिकल कॉलेज में 66 कोरोना पॉजिटिव ( सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अब कर्नाटक के मेडिकल कॉलेज में फूटा 'कोरोना बम'
  • 66 छात्र निकले पॉजिटिव, दो हॉस्टल सील

कर्नाटक के SDM मेडिकल कॉलेज में 66 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इतने सारे छात्रों का कोरोना का शिकार होना प्रशासन को चिंता में डाल गया है. प्रशासन ने तुरंत एक्शन लेते हुए कॉलेज बिल्डिंग के दो हॉस्टल सील कर दिए हैं. इस कॉलेज में कुल 400 छात्र पढ़ाई कर रहे हैं.

कर्नाटक के मेडिकल कॉलेज में फूटा 'कोरोना बम'

बताया गया है कि जैसे ही कुछ छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए, मेडिकल कॉलेज द्वारा सभी का कोरोना टेस्ट करने का फैसला लिया गया. अभी तक 300 छात्रों का टेस्ट हो चुका है और इसमें 66 संक्रमित पाए गए हैं. इससे पहले भी कई स्कूल और कॉलेज में कोरोना बम फटा है. पिछले दिनों राजस्थान के उदयपुर में एक स्कूल में 11 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. तेलंगाना में भी एक स्कूल में 28 छात्राएं कोरोना का शिकार हो गई थीं. दूसरे कई राज्यों के स्कूल से भी ऐसी ही खबरें देखने सुनने को मिल रही हैं. ओडिशा में भी बच्चों के बीच कोरोना का प्रसार तेज होता दिख रहा है. वहां पर 53 स्कूली छात्र और 22 मेडिकल कॉलेज के छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

बच्चों की वैक्सीन पर क्या प्रोग्रेस?

अभी के लिए कोरोना की तीसरी लहर ने दस्तक नहीं दी है, लेकिन बच्चों और छात्रों के बीच यूं कोरोना का तेजी से फैलना अच्छे संकेत नहीं दे रहा है. जब से हर राज्य ने स्कूल-कॉलेज खोलना शुरू किया है, कोरोना मामले बढ़ते दिखे हैं. कुछ एक्सपर्ट का मानना है कि अब बच्चों को भी वैक्सीन लगवा देनी चाहिए. अभी के लिए सरकार द्वारा बनाई गई कमेटी इस पर विचार कर रही है. कहा जा रहा है कि अगले साल जनवरी से बीमार बच्चों को पहले वैक्सीन दी जा सकती है. इसके बाद मार्च से हर बच्चे को टीका लगाना शुरू किया जा सकता है. इसकी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है, लेकिन सरकार द्वारा बनाई गई कमेटी काफी आगे बढ़ गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें