scorecardresearch
 

Indian Railway: भगवान श्रीराम से जुड़े धार्मिक स्थल घुमाएगी रामायण सर्किट स्पेशल ट्रेन, जानिए किराया

Indian Railway: रेलवे के मुताबिक दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से खुलने वाली रामायण सर्किट स्पेशल ट्रेन ( Ramayana Circuit Train) अपनी 17 दिन की यात्रा में पर्यटकों को भगवान राम से जुड़े सभी महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों का भ्रमण और दर्शन कराएगी.

IRCTC Indian Railway Updates IRCTC Indian Railway Updates
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 7 नवंबर से चलेगी रामायण सर्किट ट्रेन
  • अयोध्या से रामेश्वरम तक की होगी यात्रा

Ramayana Circuit Train: एक तरफ जहां अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है तो वहीं, दूसरी ओर भगवान श्रीराम में आस्था रखने वाले श्रद्धालुओं के लिए आईआरसीटीसी द्वारा स्पेशल पर्यटक ट्रेन चलाने की तैयारी की जा रही है. जो आगामी 7 नवंबर से चलाई जाएगी.

रेलवे के मुताबिक दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से खुलने वाली ये ट्रेन अपनी 17 दिन की यात्रा में पर्यटकों को भगवान राम से जुड़े सभी महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों का भ्रमण और दर्शन कराएगी. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (IRCTC) के अनुसार ऐसा पहली बार हो रहा है, जब आधुनिक साज सज्जा के साथ रामायण सर्किट स्पेशल टूरिस्ट एसी ट्रेन को विशेष रूप से तैयार कराया जा रहा है. इस ट्रेन में फर्स्ट एसी और सेकेंड एसी की सुविधाओं से युक्त एसी कोच लगेंगे. जिसमें कुल 156 यात्री यात्रा कर सकेंगे.

अयोध्या और रामेश्वरम तक की होगी यात्रा
IRCTC पर्यटन के दृष्टिकोण से अक्सर विशेष पर्यटक ट्रेनें चलाती रहती है. इसी कड़ी में आईआरसीटीसी द्वारा आगामी 7 नवंबर 2021 से 'देखो अपना देश डीलक्स एसी पर्यटक ट्रेन' चलाने जा रही है. यह ट्रेन 7 नवंबर को दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से अपने 17 दिनों के सफर पर रवाना होगी. यात्रा का पहला पड़ाव भगवान श्री राम की जन्मस्थली अयोध्या होगा. जहां पर पर्यटक राम जन्मभूमि, हनुमानगढ़ी मंदिर और नंदीग्राम में भरत मंदिर का दर्शन करेंगे. 

अयोध्या से खुलने के बाद यह ट्रेन सीतामढ़ी पहुंचेगी. जहां जानकी जन्म स्थान और नेपाल के जनकपुर स्थित राम जानकी मंदिर के दर्शन किए जा सकेंगे. इसके बाद यह ट्रेन वाराणसी पहुंचेगी. जहां से टूरिस्ट बसों द्वारा वाराणसी के तमाम प्रसिद्ध मंदिरों सहित सीता समाहित स्थल, प्रयागराज श्रृंगवेरपुर और चित्रकूट की यात्रा की जाएगी. इस दौरान वाराणसी, प्रयागराज और चित्रकूट में पर्यटकों को रात्रि विश्राम कराया जाएगा. चित्रकूट से चलकर ट्रेन नासिक पहुंचेगी. जहां पंचवटी और त्र्यंबकेश्वर मंदिर का भ्रमण किया जाएगा. नासिक के बाद यह स्पेशल ट्रेन प्राचीन किष्किंधा नगरी हंपी पहुंचेगी. जहां अंजनी पर्वत स्थित भगवान हनुमान की जन्मस्थली के साथ-साथ अन्य महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों का दर्शन कराया जाएगा.

17 दिन में पूरी होगी 7500 किलोमीटर की यात्रा
इस ट्रेन का अंतिम पड़ाव रामेश्वरम होगा. रामेश्वरम में पर्यटकों को प्राचीन शिव मंदिर और धनुषकोडी का दर्शन किया जा सकेगा. रामेश्वरम से चलकर यह ट्रेन 17 दिन में दिल्ली वापस पहुंचेगी. इस दौरान ट्रेन की लगभग 7500 किलोमीटर की यात्रा पूरी हो जाएगी.

ट्रेन में पर्यटकों को मिलेंगी बेहतरीन सुविधाएं
आधुनिक सुविधाओं से लैस इस एसी पर्यटक ट्रेन में यात्री कोच के अतिरिक्त दो रेल डाइनिंग रेस्त्रां और एक मॉडल किचन कार तो होगा ही साथ ही यात्रियों के लिए फुट मसाजर, मिनी लाइब्रेरी, मॉडर्न और साफ-सुथरे शौचालय एवं शावर क्यूबिकल आदि की भी सुविधाएं उपलब्ध होंगी. सुरक्षा के दृष्टिकोण से ट्रेन में सिक्योरिटी गार्ड भी रहेंगे. प्रत्येक कोच में सीसीटीवी कैमरे भी लगे होंगे. 

कोविड प्रोटोकॉल का भी पालन
आईआरसीटीसी के द्वारा सभी पर्यटकों को फेस मास्क, हैंड ग्लव्स और सैनिटाइजर रखने के लिए एक सेफ्टी किट दी जाएगी. ट्रेन के ठहराव वाले सभी स्टेशनों पर ट्रेन को सैनिटाइज भी किया जाएगा. पर्यटकों की मेडिकल जांच भी की जाएगी.

जानिए कितना होगा किराया? 
इस विशेष पर्यटक ट्रेन के फर्स्ट एसी का किराया ₹102095 रुपये प्रति व्यक्ति निर्धारित किया गया है. जबकि सेकेंड एसी की यात्रा के लिए प्रति यात्री ₹82950 रुपये किराया निर्धारित किया गया है. इस टूर पैकेज की कीमत में यात्रियों को रेल यात्रा के अलावा स्वादिष्ट शाकाहारी भोजन, वातानुकूलित बसों द्वारा पर्यटक स्थलों का भ्रमण, एसी होटलों में ठहरने की व्यवस्था, गाइड और इंश्योरेंस आदि की सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी. 

बुकिंग और अन्य सुविधाएं
आईआरसीटीसी के अनुसार, सरकार/पीएसयू के कर्मचारी इस यात्रा पर वित्त मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के आधार पर पात्रता के अनुसार एलटीसी सुविधा का भी लाभ उठा सकते हैं. कोविड को देखते हुए 18 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के प्रत्येक यात्री को कोविड वैक्सीनेशन की दोनों डोज लगवाना अनिवार्य होगा.

बता दें कि इस ट्रेन में बुकिंग के लिए आईआरसीटीसी की अधिकृत वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन बुकिंग भी की जा सकती है. बुकिंग की सुविधा आधिकारिक वेबसाइट पर पहले आओ पहले पाओ के आधार पर उपलब्ध है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें