scorecardresearch
 

पति-पत्नी दोनों बने Madras High Court के जज, एक ही दिन ली शपथ, दूसरी बार बना ये रिकॉर्ड

मद्रास हाईकोर्ट (Madras High Court) में पहली बार कोई पति-पत्नी जज बने और दिलचस्प बात ये रही कि दोनों ने एक ही दिन शपथ भी ली. ज्यूडिशयरी के इतिहास में दूसरी बार ऐसा हुआ है.

मद्रास हाईकोर्ट (फ़ोटो- India Today) मद्रास हाईकोर्ट (फ़ोटो- India Today)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मद्रास HC में पहली बार कोई पति-पत्नी जज बने
  • दोनों ने एक ही दिन शपथ भी ली
  • ज्यूडिशयरी के इतिहास में दूसरी बार ऐसा हुआ

न्यायिक इतिहास में मद्रास हाईकोर्ट (Madras High Court) एक अनोखे लम्हे का गवाह बना. लेकिन ये किसी जजमेंट को लेकर नहीं बल्कि जजों के शपथ ग्रहण को लेकर था. दरअसल, मद्रास हाईकोर्ट में पहली बार कोई पति-पत्नी जज बने और दिलचस्प बात ये रही कि दोनों ने एक ही दिन शपथ भी ली. ज्यूडिशयरी के इतिहास में दूसरी बार ऐसा हुआ है. 

आपको बता दें की जस्टिस मुरली शंकर कुप्पुराजू (Justice Murali Shankar Kuppuraju) और जस्टिस तमिलसेल्वी टी वलयापलायम ( Justice Tamilselvi T. Valayapalayam) ने गुरुवार (3 दिसंबर) को मद्रास हाईकोर्ट में जज की शपथ ली. इस दौरान एडवोकेट जनरल विजय नारायण ने कहा कि जस्टिस मुरली शंकर ने जस्टिस तमिलसेल्वी से शादी की है. मद्रास हाईकोर्ट के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि पति और पत्नी ने जज के पद की एक ही दिन शपथ ली है. ऐसा करके उन्होंने न्यायिक इतिहास रच दिया है. फिलहाल, मद्रास हाईकोर्ट में दंपती के अलावा 8 अन्य जजों ने भी शपथ ली. 

देखें: आजतक LIVE TV  

जब जस्टिस मुरली शंकर तिरुचि में प्रिंसिपल डिस्ट्रिक्ट और सेशन जज के रूप में सेवारत थे और उनकी पत्नी जस्टिस तमिलसेल्वी मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच में रजिस्ट्रार (न्यायिक) के रूप में नियुक्त थीं, तब दोनों ने साल 1996 में शादी की थी.

हालांकि, ये कोई पहला मौका नहीं है जब कोई पति-पत्नी हाईकोर्ट में एक साथ जज बने हों. एडवोकेट जनरल विजय नारायण ने बताया कि इसके पहले नवंबर 2019 में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में एक ही दिन जस्टिस विवेक पुरी और जस्टिस अर्चना पुरी ने शपथ ली थी और ये दोनों भी पति-पत्नी थे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें