scorecardresearch
 

इमाम चीफ इलियासी को केंद्र सरकार ने दी Y+ कैटेगरी की सुरक्षा, मोहन भागवत से मुलाकात के बाद मिल रही थीं धमकियां

केंद्र सरकार ने ऑल इंडिया इमाम ऑर्गेनाइजेशन के प्रमुख डॉ. उमर अहमद इलियासी को Y+ कैटेगरी की सुरक्षा दी है. हाल ही में उमर अहमद इलायासी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की थी.

X
इमाम चीफ उमर अहमद इलियासी (फाइल फोटो)
इमाम चीफ उमर अहमद इलियासी (फाइल फोटो)

केंद्र सरकार ने ऑल इंडिया इमाम ऑर्गेनाइजेशन के प्रमुख डॉ. उमर अहमद इलियासी को Y+ कैटेगरी की सुरक्षा दी है. हाल ही में उमर अहमद इलायासी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की थी. इलियासी ने मोहन भागवत को 'राष्ट्रपिता' बताया था. जिसके बाद उन्हें लगातार धमकियां मिल रही थीं. केंद्रीय गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, आईबी की रिपोर्ट के बाद इलियासी को एमएचए ने सुरक्षा दी है. 

दरअसल संघ प्रमुख मोहन भागवत को 'राष्ट्रपिता' और 'राष्ट्रऋषि' बताने पर ऑल इंडिया इमाम ऑर्गेनाइजेशन (AIIO) के प्रमुख डॉ. उमर अहमद इलियासी को धमकी मिली थी. चीफ इमाम के मुताबिक उन्हें इंग्लैंड से फोन आया था. डॉ. उमर अहमद इलियासी ने कहा कि एक शख्स ने पहले फोन कर नाराजगी जताई फिर अपशब्दों का प्रयोग किया और धमकी दी. चीफ इमाम ने सोशल मीडिया पर भी धमकी मिलने की बात कही है.  

भागवत को बताया था राष्ट्रपिता और राष्ट्रऋषि

हालांकि धमकी के बावजूद चीफ इमाम अपने शब्दों पर कायम रहे. इमाम का कहना था कि मोहन भागवत को उन्होंने बुलाया था. उन्हें राष्ट्रपिता और राष्ट्रऋषि बोला था इन शब्दों को वह वापस नहीं लेंगे, परिणाम चाहे जो भी हो. चीफ इमाम ने बताया था कि उन्होंने थाने में धमकी को लेकर शिकायत दी और सरकार और एजेंसियों को इसकी जानकारी है. बता दें कि चीफ इमाम के पास पहले से ही सुरक्षा मौजूद थी.  

इलियासी ने PFI बैन को भी सही ठहाराया

इसके अलावा चीफ इमाम ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) पर लगे बैन को भी सही ठहराया था. उनका कहना था कि सरकार के पास सबूत थे, इसलिए कार्रवाई की गई. बता दें कि 22 सितंबर को दिल्ली के कस्तूरबा गांधी मार्ग पर स्थित एक मस्जिद में मोहन भागवत और  डॉ. उमर अहमद इलियासी के बीच मुलाकात हुई थी. इसके बाद भागवत उत्तरी दिल्ली के आजादपुर में स्थित एक मदरसे में पहुंचे थे. यहां भागवत जब बच्चों से बात कर रहे थे, तभी इलियासी ने उन्हें 'राष्ट्रपिता' बताया था. उन्होंने कहा था कि मोहन भागवत आज मेरे निमंत्रण पर आए हैं. वह 'राष्ट्र-पिता' और 'राष्ट्रऋषि' हैं. उनकी आज की यात्रा से देश में एक अच्छा संदेश जाएगा. भगवान की पूजा करने के हमारे तरीके अलग हैं लेकिन सबसे बड़ा धर्म मानवता है. हमारा मानना ​​है कि देश पहले आता है. 

दुनिया का सबसे बड़ा इमामों का संगठन

AIIO का दावा है कि वो दुनिया में इमामों का सबसे बड़ा संगठन है. इनका ये भी दावा है कि इस संगठन को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली हुई है. उमर अहमद इलियासी ने कई राज्यों में मदरसों के सर्वे को भी ठीक बताया था. तब उन्होंने कहा था कि जो सर्वे हो रहा है वो ठीक है. मदरसों का सर्वे हो, उन्हें आधुनिक तालीम दी जाए. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें