scorecardresearch
 

सलमान खुर्शीद की किताब के खिलाफ कोर्ट पहुंची हिंदू सेना, प्रकाशन और बिक्री पर रोक लगाने की मांग

हिंदू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने पटियाला कोर्ट से किताब के प्रकाशन, प्रसार और बिक्री पर रोक लगाने की मांग की है. हिंदू सेना का आरोप है कि किताब हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाती है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के दो वकीलों ने किताब को लेकर सलमान खुर्शीद के खिलाफ दिल्ली पुलिस कमिश्नर के पास शिकायत की थी.

X
सलमान खान की किताब को लेकर मचा है बवाल (फाइल) सलमान खान की किताब को लेकर मचा है बवाल (फाइल)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हिंदू सेना ने कहा- हिंदुओं की भावना को ठेस पहुंचाती है किताब
  • प्रकाशन, प्रसार और बिक्री पर लगे रोक

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की किताब को लेकर पूरे देश में बवाल मचा हुआ है. अब इसे लेकर हिंदू सेना ने कोर्ट का रुख किया है. हिंदू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने पटियाला कोर्ट से किताब के प्रकाशन, प्रसार और बिक्री पर रोक लगाने की मांग की है. हिंदू सेना का आरोप है कि किताब हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाती है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के दो वकीलों ने किताब को लेकर सलमान खुर्शीद के खिलाफ दिल्ली पुलिस कमिश्नर के पास शिकायत की थी. 

दरअसल, पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने हाल ही में अपनी किताब 'Sunrise over Ayodhya' लॉन्च की. इस किताब के कुछ अंश को लेकर बवाल मचा है. किताब में उन्होंने हिंदुत्व की ISIS और बोको हरम से तुलना की है. 

क्या लिखा है किताब में?

सलमान खुर्शीद की किताब में एक चैप्टर 'द सैफ्रन स्काई' को लेकर विवाद खड़ा हुआ है. दरअसल उन्होंने अपनी किताब में लिखा है कि मौजूदा दौर में हिंदुत्व का राजनीतिक रूप, साधु-संतों के सनातन और प्राचीन हिंदू धर्म को किनारे लगा रहा है. वहीं खुर्शीद ने किताब में आगे लिखा कि हिंदू धर्म को किनारे लगाता यह हिंदुत्व का राजनीतिक रूप आईएसआईएस और बोको हरम जैसे जिहादी संगठन जैसा ही है 

भाजपा ने साधा निशाना

भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने खुर्शीद की किताब को लेकर कांग्रेस पर हमला साधा था. उन्होंने कहा, जो बातें किताब में हैं, वो केवल हिंदुओ की भावनाओं को नहीं बल्कि भारत की आत्मा को भी गहरी ठेस पहुंचाती हैं. उन्होंने कहा, भारत में रहकर, इतना सम्मान मिलने के बाद भी कांग्रेस पार्टी ऐसा क्यों कर रही है. ये लाइन और विचार किसी एक कांग्रेसी नेता के नहीं, बल्कि ये आज कांग्रेस की विचारधारा है. 

भाटिया ने कहा, ये बिल्कुल स्पष्ट कर देता है कि देश को जो बहुसंख्यक हैं, जिनका बहुत बड़ा योगदान और बलिदान देश को अखंड रखने में रहा है, उनकी भावनाओं को कुचल डालो, उनको बार-बार चोट दो, ये सोनिया जी और राहुल जी के इशारे पर ही बार-बार होता है. कांग्रेस पार्टी की सरकारें आजादी के बाद 55 साल देश में रहीं, उन्होंने केवल और केवल सांप्रदायिक राजनीति की है. कैसे समाज को बांटे, कैसे समाज में जहर फैलाएं, कैसे हिंदू-मुस्लिम की राजनीति करें, कांग्रेस ने बस ये ही किया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें