scorecardresearch
 

पद्म पुरस्कारों के लिए करें नामों की सिफारिश, ऐसे भेजें जानकारी और असाधारण उपलब्धियां

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सिफारिशें केवल https://padmaawards.gov.in पर ऑनलाइन ही मान्य होंगी. सरकार ने यह भी कहा कि वह पद्म पुरस्कारों को 'जनता का पद्म' में बदलने के लिए प्रतिबद्ध है. सिफारिश की आखिरी तारीख 15 सितंबर है.

Padma Awards Padma Awards
स्टोरी हाइलाइट्स
  • केंद्र पद्म पुरस्कारों को 'जनता के पद्म' में बदलने को प्रतिबद्ध
  • नॉमिनेशन करने की आखिरी तारीख 15 सितंबर, 2021
  • अगले साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संख्या में होगा अवॉर्ड्स का ऐलान

केंद्र सरकार ने कहा कि वह पद्म पुरस्कारों को 'जनता के पद्म' में बदलने के लिए प्रतिबद्ध है और सभी नागरिकों से प्रतिष्ठित सम्मानों के लिए नॉमिनेशन और सेल्फ नॉमिनेशन सहित सिफारिशें करने का आग्रह किया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा कि गणतंत्र दिवस, 2022 की पूर्व संध्या पर घोषित किए जाने वाले पुरस्कारों के लिए ऑनलाइन नामांकन या सिफारिशें खुली हुई हैं, जिसकी अंतिम तारीख 15 सितंबर, 2021 है.

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ऐसे नामांकन और सिफारिशें केवल https://padmaawards.gov.in पर ऑनलाइन ही मान्य होंगी. पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री के नाम से पहचाने जाने वाला पद्म पुरस्कार देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में शामिल हैं. केंद्रीय गृह मंत्रालय के बयान में कहा गया, ''सरकार पद्म पुरस्कारों को 'पीपुल्स पद्म' में बदलने के लिए प्रतिबद्ध है और इसलिए सभी नागरिकों से नामांकन, सेल्फ-नॉमिनेशन सहित सिफारिशें करने का अनुरोध किया जाता है.''

नामांकन और अनुशंसा पोर्टल पर उपलब्ध फॉर्मेट में होना चाहिए, जिसमें सभी जरूरी जानकारी शामिल हो. इसमें वर्णनात्मक रूप में एक नैरेटिव (अधिकतम 800 शब्द), स्पष्ट रूप से विशिष्ट और असाधारण उपलब्धियों आदि की जानकारी होनी चाहिए. केंद्र सरकार ने पहले ही सभी राज्यों को संभावित पुरस्कार विजेताओं का पता लगाने के लिए एक स्पेशल सर्च कमेटी का गठन करने के लिए कहा है.

साल 2014 से, केंद्र सरकार कई नायकों को पद्म पुरस्कार प्रदान कर रही चुकी है, जिन्होंने विभिन्न तरीकों से समाज में योगदान दिया है. गृह मंत्रालय ने सभी केंद्रीय मंत्रालयों, विभागों, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश सरकारों, भारत रत्न और पद्म विभूषण पुरस्कार विजेताओं से अनुरोध किया है कि महिलाओं, समाज के कमजोर वर्गों, एससी, एसटी आदि में से प्रतिभाशाली व्यक्तियों की पहचान करने के लिए ठोस प्रयास किए जाएं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें