scorecardresearch
 

दिल्ली पुलिस की वो 10 शर्तें, जिन्हें मानने के बाद मिली है किसान संसद की परमिशन

किसान आज से नए कृषि कानूनों के खिलाफ जंतर-मंतर पर किसान संसद (Kisan sansad) लगाएंगे और प्रदर्शन करेंगे. ये प्रदर्शन मॉनसून सत्र की समाप्ति तक चलेगा.

सिंघु बॉर्डर से प्रदर्शन के लिए जंतर-मंतर आ रहे किसान (फोटो- एएनआई) सिंघु बॉर्डर से प्रदर्शन के लिए जंतर-मंतर आ रहे किसान (फोटो- एएनआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आज से दिल्ली में किसान संसद
  • किसानों को कई शर्तों के साथ अनुमति
  • दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए

26 जनवरी को दिल्ली में हुई व्यापक हिंसा के बावजूद आज से किसानों (Farmer) को दिल्ली में संसद के बगल में मौजूद जंतर-मंतर में प्रदर्शन करने की इजाजत मिल गई है. लेकिन इसबार दिल्ली पुलिस ने किसान नेताओं से कई शर्तें मनवाई है तभी किसानों को प्रदर्शन की इजाजत दी है. 

किसान आज से नए कृषि कानूनों के खिलाफ जंतर-मंतर पर किसान संसद (Kisan sansad) लगाएंगे और प्रदर्शन करेंगे. ये प्रदर्शन मॉनसून सत्र की समाप्ति तक चलेगा. संयुक्त किसान मोर्चा के डॉक्टर दर्शन पाल के अनुसार इसमें सबकुछ संसद जैसा होगा. एक स्पीकर, डिप्टी स्पीकर होगा. टी ब्रेक होगा. 

किसान संसद की अनुमति देने से पूर्व दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच कई दौर की वार्ता हुई. इसके बाद ही किसानों को प्रदर्शन करने की इजाजत मिली है.

दिल्ली पुलिस द्वारा रखी गई जिन 10 अहम शर्तों को किसानों ने स्वीकार किया है वे इस प्रकार हैं. 

Farmer Protest LIVE: जंतर-मंतर पर जुटेंगे आंदोलनकारी किसान, पुलिस की जबरदस्त तैनाती 

1- किसान हर रोज 11 बजे से लेकर 5 बजे शाम तक प्रदर्शन करेंगे.

2-सिंघु बॉर्डर पर इकट्ठा होकर 200 किसान एक साथ लगभग 5 बसों में भरकर जंतर मंतर की तरफ 10 बजे रवाना होंगे, सिंघु बॉर्डर के अलावा किसी भी बॉर्डर से किसानों का कोई भी मोर्चा जंतर मंतर की ओर नहीं जाएगा.

3-किसानों के साथ साथ पुलिस भी सिंघु बॉर्डर से जंतर-मंतर तक आएगी ताकि किसी तरह की गड़बड़ न हो. 

4- लगभग 40 संगठनों के 5-5 किसान संसद में हर रोज शामिल होंगे और उन्हीं 5 किसानों में से एक को मॉनिटर बनाया जाएगा और किसी भी गड़बड़ी की परिस्थिति में उसे जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी.

5-जो किसान प्रदर्शन में शामिल होंगे, उनकी पहचान पहले से ही सुनिश्चित की जाएगी. 

6- जंतर मंतर पर प्रदर्शन की जगह सुनिश्चित की जाएगी और यहां सुबह 11 बजे से लेकर शाम के 5 बजे तक किसान संसद चलेगी.

7-जंतर मंतर पर सुरक्षा के सभी इंतजाम किए जाएंगे और सीसीटीवी कैमरे की भी नजर होगी ताकि कोई भी बाहरी व्यक्ति वहां प्रदर्शन में शामिल ना हो पाए. 

8- 5 बजे शाम प्रदर्शन समाप्त होने के बाद फिर से उन्हीं बसों में भरकर किसान दोबारा सिंघु बॉर्डर पहुंचा दिए जाएंगे. 

9-किसान प्रदर्शन के दौरान कोविड गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करेंगे. 

10-किसान संसद में मंच संचालित होगा और ये संचालन प्रदर्शन में शामिल हो रहे किसान ही करेंगे. 


 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें