scorecardresearch
 

किसान आंदोलन: सरकार से बात करेंगे कुल 32 संगठनों के प्रतिनिधि, जानें कौन-कौन शामिल?

कृषि कानून के मसले पर सरकार और किसानों के बीच आज चर्चा होनी है. कुल 30 से अधिक संगठनों के प्रतिनिधियों को सरकार ने न्योता दिया है, जिनसे पहले भी चर्चा हो चुकी है.

किसानों का विरोध प्रदर्शन है जारी (PTI) किसानों का विरोध प्रदर्शन है जारी (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किसान संगठन और सरकार के बीच आज होगी बातचीत
  • कुल 32 संगठनों के प्रतिनिधियों को न्योता

कृषि कानूनों के मसले पर किसानों का प्रदर्शन जारी है, दिल्ली-एनसीआर पर पिछले एक हफ्ते से इसका असर पड़ रहा है. इस बीच आज भारत सरकार और किसानों के बीच सुलह को लेकर चर्चा होनी है. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दोपहर तीन बजे किसान संगठनों को वार्ता के लिए बुलाया है, ये बातचीत दिल्ली के विज्ञान भवन में होगी.

जानकारी के मुताबिक, जिन किसान संगठनों से सरकार ने कृषि कानून के मसले पर पहले भी बात की है उन्हीं संगठनों को आज की वार्ता के लिए न्योता दिया गया है. इस दौरान कुल 32 प्रतिनिधि कृषि मंत्री के साथ वार्ता करेंगे.

पंजाब किसान संघर्ष कमेटी के सुखविंदर का कहना है कि देश में किसानों के करीब 500 से अधिक संगठन हैं, लेकिन सरकार ने कुल 32 को न्योता दिया है. ऐसे में अगर सरकार सभी संगठनों को नहीं बुलाती है, तो हम नहीं जाएंगे.

देखें: आजतक LIVE TV 

कृषि मंत्रालय की ओर से किसान संगठनों को जो चिट्ठी लिखी गई है, उसमें कहा गया है कि भारत सरकार ने पहले भी आप से दो बार बातचीत की है, ऐसे में उसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए एक दिसंबर को दोपहर तीन बजे आगे की बात होगी. जो संगठन पहले शामिल हुए थे, वे ही दोबारा भी शामिल हों.

किसान संगठनों के ये प्रतिनिधि होंगे शामिल: 

आपको बता दें कि पहले सरकार ने बातचीत के लिए तीन दिसंबर का वक्त तय किया था, लेकिन किसानों के बढ़ते प्रदर्शन के कारण सरकार को झुकना पड़ा और जल्द बातचीत बुलानी पड़ी. किसानों का विरोध दिल्ली के चारों ओर हो रहा है, कई बॉर्डर बंद हैं और जो खुले हैं वहां जाम की स्थिति है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें