scorecardresearch
 

'किसान बिल क्रांतिकारी', PM मोदी ने गिनाए ये 10 फायदे, विपक्ष को घेरा

बिहार को कोसी महासेतु की सौगात देने के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर भी जमकर हमला बोला. संसद में पास किए गए विधेयक पर विपक्ष द्वारा लगाए गए सभी आरोपों का पीएम मोदी ने जवाब दिया.

विपक्ष पर बरसे पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल) विपक्ष पर बरसे पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किसान बिल पर पीएम मोदी का विपक्ष पर वार
  • किसानों को गुमराह करना बंद करे विपक्ष: PM
  • पीएम ने कहा- अब आजादी से फसल बेचेगा किसान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कृषि संबंधित बिल पर उठ रहे सभी सवालों का जवाब दिया. बिहार में विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करने के बाद जब यहां संबोधन दिया, तो किसान बिल के मसले पर विपक्ष पर जमकर बरसे. पीएम ने कहा कि विपक्ष अपनी राजनीति चमकाने के लिए किसानों को गुमराह कर रहा है और झूठ बोल रहा है. अपने संबोधन में पीएम ने केंद्र सरकार द्वारा लाए गए विधेयक के फायदे भी गिनाए.

1.    लोकसभा में ऐतिहासिक कृषि सुधार विधेयक पारित किए गए हैं. इन विधेयकों ने हमारे अन्नदाता किसानों को अनेक बंधनों से मुक्ति दिलाई है. इन सुधारों से किसानों को अपनी उपज बेचने में और ज्यादा विकल्प और ज्यादा अवसर मिलेंगे.


2.    पीएम ने दावा किया कि इस बिल से बिचौलियों का सिस्टम खत्म होगा. किसान और ग्राहक के बीच जो बिचौलिये होते हैं, जो किसानों की कमाई का बड़ा हिस्सा खुद ले लेते हैं, उनसे बचाने के लिए ये विधेयक लाए जाने बहुत आवश्यक थे. ये विधेयक किसानों के लिए रक्षा कवच बनकर आए हैं.


3.    कोई भी व्यक्ति अपना उत्पाद, दुनिया में कहीं भी बेच सकता है, जहां चाहे वहां बेच सकता है. लेकिन केवल किसान को इस अधिकार से वंचित रखा गया था. अब नए प्रावधान लागू होने के कारण, किसान अपनी फसल को देश के किसी भी बाजार में, अपनी मनचाही कीमत पर बेच सकेगा.

4.    सरकार के द्वारा किसानों को MSP का लाभ नहीं दिया जाएगा. ये भी मनगढ़ंत बातें कही जा रही हैं कि किसानों से धान-गेहूं इत्यादि की खरीद सरकार द्वारा नहीं की जाएगी. ये सरासर झूठ है, गलत है, किसानों को धोखा है, हमारी सरकार किसानों को MSP के माध्यम से उचित मूल्य दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है. सरकारी खरीद भी पहले की तरह जारी रहेगी.


5.    केंद्र की योजनाओं के द्वारा किसानों के खाते में एक लाख करोड़ रुपये ट्रांसफर किए जा चुके हैं. कई योजनाओं को पूरा किया गया, सिंचाई के लिए अलग योजना बनाई जा रही है. 


6.    पीएम मोदी ने बताया कि सबसे पहले नीतीश सरकार ने बिहार में इस कानून को हटाया, जिसके बाद अब बिहार का मॉडल पूरा देश लागू कर रहा है. 

7.    अपने संबोधन में पीएम मोदी ने विपक्ष पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया. पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने अपने मेनिफेस्टो में इसका वादा किया था, लेकिन अब विरोध कर रही है. ये लोग किसानों को गुमराह कर रहे हैं.


8.    किसानों से अपील करते हुए पीएम कहा कि इनके चक्कर में ना पड़ें और सतर्क रहें. ये किसानों की रक्षा को ढिंढोरा पीट रहे हैं, लेकिन बिचौलियों का साथ दे रहे हैं.


9.    संबोधन से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट कर भी इस बिल का समर्थन किया था और किसानों से विपक्ष के भ्रमजाल में ना फंसने की बात कही थी.


10.    पीएम ने किसानों को भरोसा दिलाया कि जितना NDA सरकार ने 6 वर्षों में किया गया है, उतना पहले कभी नहीं किया गया. किसानों को होने वाली एक-एक परेशानी को समझते हुए दूर करने के लिए हमारी सरकार ने निरंतर प्रयास किया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें