scorecardresearch
 

राहुल गांधी का निशाना, PM मोदी के लिए कश्मीरी पंडितों के नरसंहार से ज्यादा फिल्म पर बोलना अहम

अपने ट्वीट के जरिए मारे गए कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की पत्नी के वीडियो को टैग करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री से सुरक्षा की जिम्मेदारी लेने और कश्मीर में शांति लाने का आग्रह किया है.

X
Congress leader Rahul Gandhi Congress leader Rahul Gandhi
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कश्मीरी पंडितों के हालात पर मोदी सरकार को घेरा
  • गुरुवार को राहुल भट्ट की आतंकियों ने कर दी थी हत्या

राजस्थान के उदयपुर में चल रहे कांग्रेस के चिंतन शिविर के बीच राहुल गांधी ने कश्मीरी पंडितों के हालात पर मोदी सरकार को घेरा है. राहुल गांधी ने बडगाम में कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या को लेकर कहा है कि प्रधानमंत्री के लिए फिल्म के बारे में बोलना, कश्मीरी पंडितों के नरसंहार पर बोलने से ज्यादा महत्वपूर्ण है. 

राहुल गांधी ट्वीट करके कहा, 'प्रधानमंत्री के लिए एक फिल्म पर बोलना, कश्मीरी पंडितों के नरसंहार पर बोलने से ज्यादा अहम है. भाजपा की नीतियों की वजह से आज कश्मीर में आतंक चरम पर है. प्रधानमंत्री जी, सुरक्षा की जिम्मेदारी लीजिए और शांति लाने की कोशिश कीजिए.' 

बता दें कि 2010-11 में प्रवासियों के लिए विशेष रोजगार पैकेज के तहत क्लर्क की नौकरी पाने वाले राहुल भट्ट की गुरुवार को बडगाम जिले के चडूरा तहसील कार्यालय के अंदर आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी.

हालांकि सेना ने राहुल भट्ट के हत्यारों को 24 घंटे के अंदर ढेर कर दिया था. बांदीपोरा में शुक्रवार शाम को तीन आतंकियों को मारे गए थे. इनमें मारे गए दो आतंकी राहुल भट्ट की हत्या में शामिल थे. मारे गए दोनों आतंकियों की पहचान फैसल और सिकंदर के रूप में हुई थी. दोनों ही पाकिस्तानी थे. इनमें तीसरा आतंकी गुलजार अहमद है, जिसकी पहचान 11 मई को की गई थी. 

वहीं, कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद से ही कश्मीरी पंडितों की घर वापसी के दावे किए जा रहे हैं, लेकिन पिछले तीन सालों की हकीकत यह है कि जो कश्मीरी पंडित से वहां रह रहे थे, उनको भी रहने नहीं दिया जा रहा है. उनकी हत्या हो रही है. राहुल भट्ट की टारगेट किलिंग इसका सबूत है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें