scorecardresearch
 

J&K: 24 घंटे के भीतर सेना ने लिया इंतकाम, राहुल भट्ट के हत्यारे आतंकियों को अंजाम तक पहुंचाया

जम्मू कश्मीर में आतंकी घटनाएं बढ़ते ही खुफिया एजेंसियां भी अलर्ट मोड में आ गई हैं. खुफिया एजेंसियों ने जम्मू-कश्मीर में अज्ञात आतंकियों की मूवमेंट ट्रैक की है. वहीं बडगाम में आतंकियों ने गुरुवार को एक कश्मीरी पंडित की गोली मारकर हत्या कर दी थी, जिसका सेना ने बदला ले लिया है.

X
हत्यारे आतंकी मारे गए (फाइल फोटो) हत्यारे आतंकी मारे गए (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एक दिन पहले तहसील में घुसकर कर दी थी हत्या
  • राजस्व अधिकारी के पद पर तैनात थे राहुल भट्ट
  • पाकिस्तान के रहने वाले थे मारे गए दोनों आतंकी

कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या के बाद सुरक्षाबलों ने उनकी पत्नी मीनाक्षी से दो दिन के अंदर आतंकियों को मार गिराने का वादा किया था. सेना ने 24 घंटे के अंदर अपना वादा पूरा कर दिया. सूत्रों के हवाले से सूचना मिली है कि उन्होंने बांदीपोरा में शुक्रवार शाम को तीन आतंकियों को मार गिराया. इनमें मारे गए दो आतंकी राहुल भट्ट की हत्या में शामिल थे. मारे गए दोनों आतंकियों की पहचान फैसल और सिकंदर के रूप में हुई है. दोनों ही पाकिस्तानी हैं. इनमें तीसरा आतंकी गुलजार अहमद है, जिसकी पहचान 11 मई को की गई थी. मालूम हो कि बडगाम जिले की चडूरा तहसील में राजस्व अधिकारी के पद पर कार्यरत राहुल भट्ट की आतंकियों ने गुरुवार को दफ्तर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी. 

J&K: 350 कश्मीरी पंडितों का सामूहिक इस्तीफा, राहुल भट्ट की हत्या के विरोध में लाल चौक पर जुटेंगे

पाकिस्तान से घुसपैठ कर आ गए थे दो आतंकी

कश्मीर के आईजी ने बताया कि हाल ही में घुसपैठ कर लश्कर के दो पाकिस्तानी आतंकी भारत में घुस आए थे. बांदीपोरा में सुरक्षाबलों की इन्हीं के साथ मुठभेड़ हुई. 11 मई को एंटी टेररिस्ट ऑपरेशन के दौरान ये दोनों भागकर सालिंदर वन क्षेत्र में छिप गए थे.

उपराज्यपाल ने भी पूरा किया वादा

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कुछ घंटे पहले ही ट्वीट कर कहा था कि राहुल भट्ट के परिजनों से मुलाकात की. मैंने उनके परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया. उनसे कहा है कि आतंकवादियों और उनके समर्थकों को इस अपराध के लिए बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी.

राहुल के दफ्तर के कुछ लोगों पर शक

राहुल भट्ट की पत्नी मीनाक्षी ने आजतक को बताया कि पति से 10 मिनट पहले ही बात हुई थी. उसने कहा था कि जल्दी आना बर्थडे में चलना है. उन्होंने कहा था ठीक है आता हूं फिर पता चला कि आतंकियों ने उन्हें गोली मार दी. उन्होंने बताया कि उन्हें पति के दफ्तर में काम करने वाले कुछ लोगों पर शक है कि वे आतंकियों के साथ पति की हत्या की योजना में शामिल हैं.

आतंकी मूवमेंट को लेकर किया था अलर्ट 

आजतक को मिली जानकारी के मुताबिक खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षाबलों को आतंकी हमले को लेकर अलर्ट जारी किया था. अलर्ट में कहा था कि बांदीपुरा इलाके में तीन अज्ञात आतंकियों की 10 मई को मूवमेंट ट्रैक की गई है. ये आतंकी अपनी लोकेशन लगातार बदल रहे हैं. ये आतंकी सिक्योरिटी फोर्सेज, सिक्योरिटी फोर्सेज की गाड़ियों को और पिकेट्स को टारगेट कर सकते हैं. 

30 अप्रैल को भी दिखे थे तीन आतंकी

बांदीपोरा में 10 मई से पहले 30 अप्रैल को भी तीन आतंकियों की लोकेशन ट्रैक हुई थी. इनमें से दो पाकिस्तानी आतंकी थे. दोनों पाकिस्तानी आतंकी उर्दू बोलने वाले हैं. इनके साथ एक स्थानीय आतंकी भी था. दो पाकिस्तानियों के साथ ट्रैक हुआ तीसरा आतंकी स्थानीय भाषा बोल रहा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें