scorecardresearch
 

Sidhu Moose wala Murder: सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जांच CBI करे, SC में दाखिल की याचिका

सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड की जांच CBI को सौंपने की मांग की गई है. याचिका में पंजाब सरकार पर कई सवाल खड़े किए गए हैं.

X
सिद्धू मूसेवाला (फाइल फोटो) सिद्धू मूसेवाला (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मानसा के जवाहरके गांव में बरसाई थीं गोलियां
  • 29 मई को हुई थी सिद्धू मूसेवाला की हत्या

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड की जांच  CBI को ट्रांसफर करने की मांग को लेकर एक याचिका सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई है. याचिका में बीजेपी नेता जगजीत सिंह मिल्खा ने दाखिल की है. अपनी याचिका में मिल्खा ने पंजाब सरकार पर सुरक्षा में चूक के गंभीर आरोप लगाए हैं. मिल्खा ने कहा है कि पंजाब सरकार ने एक दिन पहले ही सिद्धू सहित कई VIP की सुरक्षा घटाई थी.

जगजीत सिंह ने अपने वकील सार्थक चतुर्वेदी, नमित सक्सेना और शुभम जायसवाल के जरिए याचिका दाखिल की है. इसमें ये भी कहा गया है कि अब पंजाब में दहशत का माहौल है. प्रदेश में जनता के मौलिक अधिकारों का हनन हो रहा है. आम नागरिकों की सुरक्षा खतरे में है. जगजीत सिंह मिल्खा की याचिका में सिद्धू मूसेवाला की दिनदहाड़े हत्या को लेकर पंजाब सरकार पर कई सवाल खड़े किए गए हैं.

जगजीत सिंह ने अपनी याचिका में कहा है कि इस हत्याकांड की जांच पंजाब पुलिस से हटाकर सीबीआई को सौंपी जाए. इस मामले के तार अंतराष्ट्रीय गैंग से जुड़े हैं. लिहाजा इसकी जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी जैसे CBI या NIA से करवाई जाए. याचिका में कहा गया है कि पंजाब में ड्रग्स और गन कल्चर आम हो रहा है. ख़ालिस्तान समर्थक पंजाब में बड़े पैमाने पर अपना असर बढ़ा रहे हैं. ऐसे में राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखा जाए.

29 मई को दिनदहाड़े सिद्धू मूसेवाला की हत्या कर दी गई थी. इसकी जिम्मेदारी तिहाड़ जेल में बंद लॉरेंस बिश्नोई और उसके साथी गोल्डी बरार ने ली थी. बदमाशों ने तड़ातड़ गोलियां बरसाई थीं. हत्याकांड के बाद पुलिस ने कई गैंगस्टरों को गिरफ्तार किया है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें