scorecardresearch
 

बंगालः CM ममता बनर्जी बोलीं- भारत बंद को समर्थन नहीं, किसानों के मुद्दे पर साथ

रोम नहीं जाने देने से नाराज सीएम ममता बनर्जी ने कहा, 'वे इतने ईर्ष्यालु हैं कि उन्होंने मुझे रोम जाने की अनुमति नहीं दी. कुछ मुख्यमंत्री कभी भी केंद्र की अनुमति नहीं लेते लेकिन हम नियमों का पालन करते हैं और इसलिए मैंने अनुमति मांगी.'

X
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (पीटीआई)
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'जरूरत पड़ी तो मैं किसानों के लिए हरियाणा-पंजाब जाऊंगी'
  • एक दिन आएगा जब तुम्हारे हाथ खाली होंगेः CM ममता
  • एक गैर विधायक CM ने कई लोगों की हत्या कर दी: शुभेंदु

भवानीपुर विधानसभा उपचुनाव को लेकर अपने चुनाव अभियान के दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि वह भारत बंद का समर्थन नहीं करेंगी. हालांकि वह किसानों के मुद्दे पर किसानों के साथ हैं. रोम जाने की अनुमति नहीं मिलने पर ममता ने कहा कि बस गिनते रहिए कि आप कितनी बार इनकार करोगे. 

ममता बनर्जी ने कहा, 'मैं भारत बंद का समर्थन नहीं करूंगी, लेकिन मैं किसानों के मुद्दे का समर्थन करती हूं. हम मांग करते हैं कि केंद्र सरकार इन तीन काले कानूनों को वापस ले. जरूरत पड़ी तो मैं हरियाणा और पंजाब भी जाऊंगी.'

रोम नहीं जाने देने के मामले पर ममता बनर्जी ने कहा, 'वे इतने ईर्ष्यालु हैं कि उन्होंने मुझे रोम जाने की अनुमति नहीं दी. कुछ मुख्यमंत्री कभी भी केंद्र की अनुमति नहीं लेते लेकिन हम नियमों का पालन करते हैं और इसलिए मैंने अनुमति मांगी. अब मैं यहां से शांति कार्यक्रम को संबोधित करूंगी. मैं हमेशा विश्व शांति सम्मेलन का स्वागत करती हूं.'

कब तक इनकार करोगेः ममता बनर्जी
ममता ने आगे कहा, 'उन्होंने मेरी शिकागो यात्रा भी रोक दी थी जहां विवेकानंद ने भाषण दिया था. उन्होंने मुझे चीन में भी नहीं जाने दिया. बस गिनते रहिए कि आप कितने इनकार करेंगे. एक दिन आएगा जब तुम्हारे हाथ खाली होंगे.'

इसे भी क्लिक करें --- उपचुनाव से पहले ममता ने भरी हुंकार- देश को तालिबान या पाकिस्तान नहीं बनने देंगे

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि गुजरात का बीजेपी ने सर्वनाश कर दिया. महाराष्ट्र में हर वक्त झगड़ा करते रहते हैं. यूपी को बर्बाद कर किया. हाथरस में मैंने टीम भेजी लेकिन घुसने नहीं दिया. असम में हमने टीम भेजी और वहां भी हमें घुसने नहीं दिया.'

केंद्र सरकार की नीतियों पर बरसते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि धनवान खजाना भरते रहते है. कोविड के समय देखा तो आपने. रेल का किराया तक प्रवासी मजदूर को नहीं दिया. मेन ट्रेन का किराया दिया. 

बीजेपी पर बरसीं ममता
कांग्रेस पार्टी छोड़ने का जिक्र करते हुए बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, 'मैंने कांग्रेस इसलिए छोड़ी थी क्योंकि कांग्रेस के साथ सीपीएम है और बीजेपी के साथ भी है.'

उन्होंने कहा, 'लोकतंत्र में वोट देना आपका अधिकार है. बीजेपी जुमला पार्टी है. कभी एनआरसी और कभी सीएए के नाम पर आपका वोट काटेंगे. मैंने आज वीडियो देखा. त्रिपुरा का सीएम बोलता है कि कोर्ट क्या करेगा हम यह के मुख्यमंत्री हैं. हम कानून की अलोचना कर सकते हैं लेकिन हम ही सब हैं कानून कुछ नहीं. और बंगाल में देखिए बीजेपी के नेता कैसा डांस करते हैं. डांडिया डांस नहीं. गुंडा डांस. ये सब बाहरी लोग हैं. अगर हम चाहें तो एक कान मारोड़ दें और ये भाग जाएं.'

भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र के बारे में ममता ने हिंदी में बोलते हुए कहा कि भवानीपुर क्षेत्र मिनी इंडिया की तरह है. यहां हर धर्म के लोग रहते हैं.

भवानीपुर में प्रचार करने पहुंचे बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने कहा, 'मुझे पता है कि भवानीपुर चुनाव कितने महत्वपूर्ण हैं. मैं पिछले दो दिनों में भवानीपुर घूमा हूं, गली-नुक्कड़ सभाओं, घर-घर प्रचार समेत 12 कार्यक्रमों में भाग लिया.'

ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए मनोज तिवारी ने कहा, 'गैर विधायक सीएम जिनका भवानीपुर से भरोसा उठ गया था, उनका भवानीपुर पर भरोसा नहीं रहा और वह नंदीग्राम में चुनाव लड़ने चली गईं. जबकि शुभेंदु अधिकारी को शुरू से ही नंदीग्राम से चुनाव लड़ना था.'

नंदीग्राम की बात नहीं करतीं ममताः शुभेंदु

उन्होंने कहा, 'शुभेंदु अगर नंदीग्राम में नहीं जीते होते तो भवानीपुर में ये चुनाव नहीं होते. भवानीपुर जहां ममता का घर है. लोगों ने कहा है कि जिन्हें भवानीपुर में विश्वास नहीं था, हमें उन पर कोई भरोसा नहीं है.'

शुभेंदु अधिकारी ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि पूजा के दौरान कमल के फूल का उपयोग किया जाता है, दुर्गा पूजा यहां है और कमल के फूल के बिना पूजा नहीं होती है. उन्होंने कहा कि एक गैर विधायक मुख्यमंत्री ने कई लोगों की हत्या कर दी, कई घरों और दुकानों में तोड़फोड़ की है. उन्होंने कहा कि प्रियंका टिबरेवाल ने कोर्ट में लड़ाई लड़ी हैं और अब मुख्यमंत्री के खिलाफ जीतेंगी. 

शुभेंदु ने ममता पर हमला करते हुए कहा कि उन्होंने कभी नंदीग्राम के बारे में बात नहीं की लेकिन विद्यासागर की 200वीं जयंती के बारे में बात की लेकिन उनकी यह 201वीं जयंती है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जिन्होंने 55 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या करवाई और वो कहती हैं कि कोई भी नहीं मारा गया. कोर्ट के अनुसार स्थिति की जांच करने वाले एनएचआरसी ने कहा कि यहां कानून का शासन नहीं है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें