scorecardresearch
 

ओवैसी का ट्वीट- शहाबुद्दीन का पार्थिव शरीर सीवान ले जाना चाहता है परिवार, नहीं मिल रही इजाजत

असदुद्दीन ओवैसी का कहना है कि शहाबुद्दीन का परिवार उनका अंतिम संस्कार सीवान में करना चाहता है, लेकिन प्रशासन इसकी इजाजत नहीं दे रहा है.

AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो: AIMIM) AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो: AIMIM)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोहम्मद शहाबुद्दीन को लेकर ओवैसी का ट्वीट
  • सीवान में अंतिम संस्कार करना चाहता है परिवार: ओवैसी

बिहार के सीवान से पूर्व सांसद बाहुबली मोहम्मद शहाबुद्दीन का बीते दिनों कोरोना से निधन हो गया. शहाबुद्दीन दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद थे, जबकि इलाज के लिए उन्हें दिल्ली के एक अस्पताल ले जाया गया था. अब निधन के बाद परिवार की मांग है कि शहाबुद्दीन का शव उन्हें सौप दिया जाए. इसको लेकर AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट भी किया है.

असदुद्दीन ओवैसी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मरहूम शहाबुद्दीन साहब के घर वाले उनकी तदफीन सीवान में करना चाहते हैं. लेकिन अधिकारी इसकी इजाजत नहीं दे रहे हैं और उनकी मय्यत को घरवालों के हवाले नहीं कर रहे हैं. 


असदुद्दीन ओवैसी ने लिखा कि शहाबुद्दीन साहब का ठीक से इलाज नहीं हुआ, उन्हें एक कोविड मरीज के साथ ही रखा गया. अमित शाह, कम से कम उनके गमज़दा घरवालों को विदाई अपने हिसाब से करने से नहीं रोकना चाहिए. जाहिर सी बात है कि वे भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करेंगे.  

आपको बता दें कि मोहम्मद शहाबुद्दीन हत्या के मामले में बीते लंबे वक्त से सजा काट रहे थे, वह दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद थे. 1 मई को ही शहाबुद्दीन के निधन की बात सामने आई.

जेल प्रशासन की ओर से बयान दिया गया था कि 20 अप्रैल को शहाबुद्दीन को अस्पताल ले जाया गया था, वह कोरोना वायरस से संक्रमित थे. उनका लगातार इलाज चल रहा था, लेकिन एक मई को उन्होंने दम तोड़ दिया. बाहुबली शहाबुद्दीन के निधन पर लालू यादव, नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव समेत बिहार के बड़े नेताओं ने दुख प्रकट किया था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें