scorecardresearch
 

आर्मी डे परेड रिहर्सल में गलवान के शहीदों को सम्मान, जवानों के शौर्य को किया याद

देश में हर साल 15 जनवरी को आर्मी डे मनाया जाता है. 15 जनवरी 1949 को इसी दिन भारत के पहले जनरल के एम करियप्पा ने देश की सेना की बागडोर संभाली थी. इससे पहले भारतीय सेना का नेतृत्व ब्रिटिश कमांडर कर रहे थे.

दिल्ली में आर्मी डे से पहले फुल ड्रेस रिहर्सल (फोटो- पीटीआई) दिल्ली में आर्मी डे से पहले फुल ड्रेस रिहर्सल (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • करियप्पा ग्राउंड में फुल ड्रेस रिहर्सल
  • 15 जनवरी को आर्मी डे मनाएगी सेना
  • गलवान के शहीदों की पत्नियां सम्मानित

आर्मी डे परेड की फुल ड्रेस रिहर्सल बुधवार को दिल्ली के जनरल करियप्पा परेड ग्राउंड में आयोजित की गई. इस मौके पर सेना ने अपने साजो-सामान का प्रदर्शन किया. इस परेड के दौरान पिछले साल गलवान घाटी में चीन के साथ लड़ाई में अदम्य साहस का प्रदर्शन करने वाले तीन शहीद जवानों की पत्नियों को सम्मानित किया गया.  

बता दें कि देश में हर साल 15 जनवरी को आर्मी डे मनाया जाता है. 15 जनवरी 1949 को इसी दिन भारत के पहले जनरल के एम करियप्पा ने देश की सेना की बागडोर संभाली थी. इससे पहले भारतीय सेना का नेतृत्व ब्रिटिश कमांडर कर रहे थे. इसी अहम घटना को याद करते हुए भारतीय सेना हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाती है. 

इस बार 15 जनवरी को देश 73वां सेना दिवस मना जा रहे हैं. सेना दिवस से पहले बुधवार को दिल्ली में फुल ड्रेस रिहर्सल परेड आयोजित की गई. इस परेड में सभी वरिष्ठ सैन्य अधिकारी मौजूद रहे. 

 

परेड के दौरान 15 जून 2020 को लद्दाख में शहीद तीन जवानों की पत्नियों को सम्मानित किया गया. बता दें कि पिछले साल 15 जून को लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी. इस झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे. भारतीय सैनिकों की जवाबी कार्रवाई में कई चीनी सैनिक भी मारे गए थे. हालांकि चीन ने ये स्वीकार तो किया था कि उसके सैनिक मारे गए हैं, लेकिन चीन ने मारे गए सैनिकों की संख्या को साझा नहीं किया था. 

देखें- आजतक LIVE TV

आर्मी डे परेड के मौके सेना के टैंक, मिसाइल और दूसरे हथियार प्रदर्शित किए गए, 15 जनवरी को सेना ये कार्यक्रम पूरे जोशो-खरोश के साथ मनाएगी. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें