scorecardresearch
 

आर्मी चीफ बोले- सेना को जल्द मिलेंगी महिला पायलट, जुलाई में शुरू होगी ट्रेनिंग

अब तक महिलाएं आर्मी एविएशन कॉर्प्स में ग्राउंड ड्यूटी का हिस्सा हैं. भारतीय वायुसेना के पास 10 महिला फाइटर पायलट हैं, जबकि नौसेना में महिलाएं डोर्नियर विमान उड़ा रही हैं.

सेना में महिलाएं जल्द उड़ाएंगी हेलिकॉप्टर (फाइल फोटो) सेना में महिलाएं जल्द उड़ाएंगी हेलिकॉप्टर (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सेना को मिलेंगी महिला पायलट
  • आर्मी एविएशन में बतौर पायलट शामिल किया जाएगा
  • सेना प्रमुख ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी जानकारी

भारतीय सेना के पास जल्द ही महिला पायलट होंगी जो बॉर्डर के पास ऑपरेशन्स में हिस्सा लेंगी. आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी. जनरल एमएम नरवणे ने कहा कि महिलाओं को आर्मी एविएशन में बतौर पायलट के रूप में शामिल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है. 

सेना प्रमुख ने कहा कि पिछले महीने, मैंने एक प्रस्ताव दिया था कि महिला अधिकारियों को आर्मी एविएशन में भर्ती किया जा सकता है. अगला कोर्स इस साल जुलाई में शुरू होगा, जिसमें महिला अधिकारियों को भी शामिल किया जाएगा. एक साल की ट्रेनिंग के बाद वो ड्यूटी से जुड़ सकेंगी. जनरल नरवणे ने ये बातें मंगलवार को सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहीं. 

अब तक महिलाएं आर्मी एविएशन कॉर्प्स में ग्राउंड ड्यूटी का हिस्सा हैं. भारतीय वायुसेना के पास 10 महिला फाइटर पायलट हैं, जबकि नौसेना में महिलाएं डोर्नियर विमान उड़ा रही हैं. 10 लड़ाकू पायलटों के अलावा वायुसेना में 111 महिला पायलट हैं जो परिवहन विमानों और हेलिकॉप्टरों को उड़ा रही हैं. 

देखें- आजतक LIVE TV

आर्मी एविएशन कॉर्प्स में वो हेलीकॉप्टर शामिल हैं जो संघर्ष और शांति क्षेत्रों में उड़ान भरते हैं. आर्मी एविएशन कॉर्प्स का गठन 1 नवंबर, 1986 को हुआ था. आर्मी एविएशन कॉर्प्स ने करगिल जैसे ऑपरेशन में भूमिका निभाई थी. यही नहीं लद्दाख में चल रहे भारत-चीन गतिरोध के दौरान विभिन्न कार्यों को अंजाम देने में भी ये सबसे आगे रही है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें