scorecardresearch
 

100 करोड़ वैक्सीन डोज का कीर्तिमान, सरकार को क्रेडिट को लेकर भिड़े कांग्रेस के 2 दिग्गज

भारत में इस साल 16 जनवरी को वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत हुई थी और 278 दिन में देशभर में 100 करोड़ वैक्सीन डोज के आंकड़े को पार कर लिया. लेकिन इस रिकॉर्ड पर कांग्रेस के नेता आपस में भिड़ गए.

वैक्सीन के क्रेडिट वार को लेकर कांग्रेस के दो नेता आपस में टकराए (फाइल) वैक्सीन के क्रेडिट वार को लेकर कांग्रेस के दो नेता आपस में टकराए (फाइल)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • देश में आज 100 करोड़ वैक्सीन डोज का आंकड़ा पार
  • भारतीयों के लिए गर्व की बात, सरकार को श्रेय देंः थरूर
  • क्रेडिट मांगने से पहले प्रधानमंत्री माफी मांगेंः पवन खेड़ा

कोरोना के खिलाफ जंग में आज भारत के लिए ऐतिहासिक दिन है क्योंकि आज ही देशभर में 100 करोड़ वैक्सीन के डोज देने का कीर्तिमान बना. दुनियाभर से इस कीर्तिमान को लेकर बधाई संदेश भी आ रहे हैं. लेकिन वैक्सीन कीर्तिमान की बधाई को लेकर कांग्रेस के दो दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ही आपस में भिड़ गए.

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने वैक्सीनेशन पर बने कीर्तिमान की सराहना करते हुए सरकार को इसके लिए श्रेय देने की बात कही. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, 'यह सभी भारतीयों के लिए गर्व की बात है. आइए सरकार को श्रेय दें. कोरोना की दूसरी लहर के गंभीर कुप्रबंधन और वैक्सीनेशन के आदेशों की ढिलाई के बाद, जो इसे रोक सकते थे, सरकार ने अब आंशिक रूप से खुद को भुनाया है. उसकी शुरुआती विफलताओं के लिए जवाबदेही बरकरार है.

हालांकि शशि थरूर की ओर से मोदी सरकार की तारीफ उनकी ही पार्टी के एक अन्य नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन खेड़ा को पसंद नहीं आई. थरूर के ट्वीट पर ही जवाब देते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि सरकार को श्रेय देना उन लाखों परिवारों का अपमान है जो व्यापक तौर पर कोविड कुप्रबंधन के बाद के प्रभावों और दुष्प्रभावों से पीड़ित हैं और अभी भी पीड़ित हैं. क्रेडिट मांगने से पहले प्रधानमंत्री को उन परिवारों से माफी मांगनी चाहिए. यह श्रेय वैज्ञानिकों और चिकित्सा बिरादरी को जाता है.

इसे भी क्लिक करें --- India 100 crore corona vaccines: देश में 100 करोड़ डोज का आंकड़ा पार, इन 10 राज्यों में लगे सबसे ज्यादा टीके

इससे पहले आज टीकाकरण के मामले में भारत ने बड़ा कीर्तिमान स्थापित कर लिया. भारत ने गुरुवार को 100 करोड़ कोविड वैक्सीन लगाने का रिकॉर्ड बनाया. पिछले पांच महीनों में कोरोना टीकाकरण अभियान ने देश में काफी बेहतर प्रदर्शन किया है. इस मामले में सितंबर सबसे अच्छा महीना रहा, जिसमें करीब 80 लाख डोज हर दिन लगाई गई.

देश में सबसे ज्यादा वैक्सीन लगाने के मामले में उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात और मध्य प्रदेश शामिल हैं. हालांकि, यहां ज्यादा वैक्सीन लगाने के पीछे यहां की ज्यादा जनसंख्या और 18+ आबादी भी है. दिल्ली की बात करें तो यहां अब तक 1.28 करोड़ वैक्सीन (पहली खुराक) लग चुकी है.

भारत में इस साल 16 जनवरी को वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत हुई थी. उस वक्त स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वॉरियर्स को वैक्सीन दी गई. मौजूदा समय में देश के 63,467 सेंटर्स पर वैक्सीन लग रही हैं जिसमें 61,270 सरकारी और 2,197 प्राइवेट सेंटर्स हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें