scorecardresearch
 

महाराष्ट्र: डोंबिवली में दिल दहला देने वाला हादसा, लिफ्ट के लिए खोदे गए गड्ढे में 6 साल के बच्चे की डूबकर मौत

डोंबिवली में ताजा घटना ने हर किसी को झकझोर दिया है. कुछ महीने पहले भी सगांव क्षेत्र में अवैध निर्माण के लिफ्ट के लिए खोदे गए गड्ढे में गिरकर 10 वर्षीय बालक सत्यम मौर्य की मौत हो गई थी.

X
फाइल फोटो: वेदांत फाइल फोटो: वेदांत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • डोंबिवली में इमारत में लिफ्ट के लिए खोदा गया था गड्ढा
  • 6 साल के बच्चें की मौत के बाद स्थानीय लोगों में गुस्सा

महाराष्ट्र के ठाणे में डोंबिवली में एक अवैध इमारत में लिफ्ट के लिए खोदे गए गड्ढे में गिरने से छह साल के बच्चे की मौत हो गई. घटना सांगर्ली इलाके की है. मृतक बच्चे का नाम वेदांत हनुमंत जाधव था. वह अपने दादा-दादी के साथ सांगर्ली के विघ्नहर्ता भवन में रहता था.

जब वेदांत एक वर्ष का था, तब उसके सिर से मां का साया उठ गया. दादा-दादी उसकी देखभाल कर रहे थे. मंगलवार सुबह वेदांत रोज की तरह खेलने के लिए निकला था. वह दोपहर के भोजन के लिए वापस नहीं आया, तो दादा-दादी ने उसकी तलाश शुरू की. वह कहीं नहीं मिला. आसपास के उसके दोस्तों से दादा-दादी ने पूछा, लेकिन कुछ पता नहीं चला.

इलाके के लोगों ने भी वेदांत की खोज शुरू कर दी. आसपास के कुओं और नालों का निरीक्षण किया गया, लेकिन वेदांत कहीं दिख नहीं रहा था. इस बीच घर के बगल में निर्माणाधीन इमारत में लिफ्ट के लिए खोदे गए गहरे गड्ढे में वेदांत पानी में तैरता हुआ मिला. यह देख मोहल्ले के लोग घबरा गए. उसे सीढ़ी और रस्सी के जरिए बाहर निकाल कर तुरंत अस्पताल ले जाया गया. वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

कुछ महीने पहले भी सगांव क्षेत्र में अवैध निर्माण के लिफ्ट के लिए खोदे गए गड्ढे में गिरकर 10 वर्षीय बालक सत्यम मौर्य की मौत हो गई थी. वह अपने माता-पिता की इकलौती संतान था. इस घटना के बाद से कल्याण डोंबिवली शहर में अवैध निर्माण को लेकर लोगों ने शिकायत दर्ज कराई थी.

बता दें कि कल्याण-डोंबिवली नगरपालिका क्षेत्र में कई अवैध निर्माण चल रहे हैं. इनमें से अधिकांश भवनों में लिफ्ट की सुविधा प्रदान करने के लिए गड्ढे खोदे गए हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि ऐसे अवैध भवनों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें