scorecardresearch
 

पहले गई जेट एयरवेज में नौकरी, फिर PMC में फंसे 90 लाख...हार्ट अटैक से गई जान

संजय गुलाटी के पास पीएमसी बैंक में चार खाते हैं, जिसमें 90 लाख रुपये जमा है. उनका बेटा स्पेशल चाइल्ड है. इस कारण संजय को नियमित रूप से पैसे की जरूरत रहती थी. वह पिछले कई दिनों से परेशान थे, क्योंकि पैसा नहीं निकाल पा रहे थे.

X
संजय गुलाटी (फाइल फोटो)
संजय गुलाटी (फाइल फोटो)

  • पीएमसी बैंक के खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत
  • खाताधारक के पीएमसी बैंक में करीब 90 लाख रुपये जमा

पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक के खाताधारक संजय गुलाटी की मौत हो गई है. वह सोमवार को पीएमसी बैंक के प्रदर्शन में शामिल होकर घर लौटे थे. घर आते ही उनको हार्ट अटैक आया और मौत हो गई.

संजय गुलाटी पहले जेट एयरवेज में इंजीनियर थे. बीते दिनों ही जेट एयरवेज ने अपना परिचालन बंद कर दिया था. जिसके बाद हजारों कर्मचारी सड़क पर आ गए थे. संजय गुलाटी अपने पिता सीएल गुलाटी, मां वर्षा गुलाटी और पत्नी बिंदू गुलाटी के साथ रहते थे.

परिवार का कहना है कि संजय गुलाटी के पास पीएमसी बैंक में चार खाते हैं, जिसमें 90 लाख रुपये जमा है. उनका बेटा स्पेशल चाइल्ड है. इस कारण संजय को नियमित रूप से पैसे की जरूरत रहती थी. वह पिछले कई दिनों से परेशान थे, क्योंकि बैंक से पैसा नहीं निकाल पा रहे थे.

अपनी तकलीफ को उन्होंने परिवार के सदस्यों को भी बताया था. सोमवार को वह किला कोर्ट में मौजूद थे, जहां सभी आरोपियों को पेश किया गया था. घर लौटने पर उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत की और शाम को कार्डियक अरेस्ट से उनकी मौत हो गई.

क्या है पीएमसी बैंक का मामला?

पीएमसी बैंक की 137 शाखाएं हैं और यह देश के टॉप-10 को-ऑपरेटिव बैंकों में से एक है. आरोप के मुताबिक पीएमसी बैंक के मैनेजमेंट ने अपने नॉन परफॉर्मिंग एसेट और लोन वितरण के बारे में आरबीआई को गलत जानकारी दी है. जिसके बाद आरबीआई ने बैंक पर कई तरह की पाबंदी लगा दी. इन पाबंदियों के तहत लोग बैंक में अपनी जमा राशि सीमित दायरे में ही निकाल सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें